महंगाई का ट्रिपल अटैक, पेट्रोल-डीजल के साथ ही आज सीएनजी की कीमतें भी बढ़ीं 

पेट्रोल-डीजल के दाम आज भी प्रति लीटर 80 पैसे बढ़े, 16 दिनों में 10 रूपा महंगा हो गया तेल, सीएमजी की कीमत भी प्रति किलो 2.50 रूपए बढ़ी , पिछले 16 दिनों में 14वीं बार बढ़ी पेट्रोल-डीजल की कीमतें, मुंबई में 120 रूपए के पार पहुंची पेट्रोल की कीमत, संसद में पेट्रोलियम मंत्री ने पेट्रोल-डीजल की बढ़ रही कीमतों पर दी सफाई

Publish: Apr 06, 2022, 09:20 AM IST

महंगाई का ट्रिपल अटैक, पेट्रोल-डीजल के साथ ही आज सीएनजी की कीमतें भी बढ़ीं 

नई दिल्ली। 
पेट्रोल-डीजल के साथ ही आज सीएनजी के दाम में भी बढ़ोत्तरी हुई है। रोजाना पेट्रोल-डीजल की बढ़ रही कीमतों से बेहाल जनता को आज महंगाई के मोर्चे पर एक और झटका लगा है। 6 अप्रैल को राजधानी दिल्ली में कम्प्रेस्ड नेचुरल गैस यानी सीएनजी की कीमत भी प्रति किलो 2.50 रूपए बढ़ गई है। दिल्ली में अब सीएनजी की कीमत 66.61 रूपए प्रति किलो हो गई है। पिछले 5 दिनों में सीएनजी की कीमतों में 6 रूपए 60 पैसे का इजाफा हुआ है। वहीं, पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बीते 16 दिनों में 10 रूपए की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। 

22 मार्च से रोजाना बढ़ रहे पेट्रोल-डीजल के दाम में 6 अप्रैल को प्रति लीटर 80 पैसे की बढ़ोत्तरी हुई है। पिछले 16 दिनों में पेट्रोल-डीजल की कीमतें 14वीं बार बढ़ी हैं। इस मूल्य वृद्धि के साथ आज दिल्ली में पेट्रोल की कीमत प्रति लीटर 105.41 रूपए और डीजल की कीमत प्रति लीटर 96.67 रूपए हो गई है। मुंबई में पेट्रोल की कीमत 120 रूपए के पार पहुंच गई है। मुंबई में आज पेट्रोल के दाम में 84 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है। इसके बाद पेट्रोल के दाम 120.51 रूपए पर पहुंच गए हैं, जबकि डीजल के दाम मुंबई में 85 पैसे बढ़े हैं। इस बढ़ोत्तरी के बाद मुंबई में डीजल 104.77 रूपए प्रति लीटर पर बिक रहा हैं। 

पेटोल-डीजल के मूल्य में रोजाना हो रही वृद्धि पर संसद में मंगलवार को सफाई देते हुए केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि अमेरिका और ब्रिटैन की तुलना में देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में बहुत ही कम बढ़ोत्तरी हुई है। उन्होंने कहा कि भारत में पेट्रोल-डीजल में हुई बढ़ोत्तरी दूसरे देशों में हुई वृद्धि का केवल 10वां हिस्सा है। अप्रैल 2021 से मार्च 2022 के बीच में पेट्रोल की कीमतें अमेरिका में 51%, कनाडा में 52%, जर्मनी में 55%, ब्रिटेन में 55%, फ्रांस में 50% और स्पेन में 58% बढ़ी हैं, जबकि भारत में पेट्रोल की कीमतें इस अवधि में सिर्फ 5% बढ़ी हैं। पेट्रोलियम मंत्री के इस ब्यान से स्पष्ट है कि पेट्रोल-डीजल की कीमतें अभी थमने वाली नहीं हैं, इसमें वृद्धि का सिलसिला आगे भी जारी रहेगा।