इन्फ्लूएंजा से भारत में पहली मौत, कर्नाटक के एक बुजुर्ग की गई जान 

इस वायरस से संक्रमित मरीजों में लगातार खांसी, बुखार, ठंड लगना, सांस फूलना जैसे लक्षण दिखाई देते है। 

Publish: Mar 10, 2023, 04:08 PM IST

भोपाल। भारत में इन्फ्लूएंजा वायरस एच 3 एन 2 से पहली मौत का मामला सामने आया है। अब तक 90 केसों की पुष्टि हो चुकी है, इसके अलावा एच 1एन1 वायरस के भी आठ केस रिपोर्ट किए गए हैं।

जानकारी के मुताबिक कर्नाटक के हासन जिले के रहने वाले 82 वर्षीय व्यक्ति में इस वायरस की पुष्टि हुई है। जिला स्वास्थ्य अधिकारी के मुताबिक मृतक का नाम हीरा गौड़ा है। उसकी एक मार्च को मौत हो गई थी। जब टेस्टिंग की गई तो पता चला कि वह एच 3 एन 2 वायरस से संक्रमित था। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों शुक्रवार को यह जानकारी दी।

बता दें की देश में इस वक्त एच 3 एन 2 वायरस को हांगकांग फ्लू भी कहते हैं। देश में बढ़ते मामले को देखते हुए डॉक्टरों ने बयान जारी किया है कि इस वायरस से संक्रमित लोगों के लक्षण सर्दी, कफ, सांस लेने में समस्या देखी गई है। इसके अलावा गले में खराश और डायरिया की भी शिकायत हो सकती है। इसके लक्षण तकरीबन एक हफ्ते तक रहते है। 

यह भी पढेंः इंदौर में बढ़ने लगा कोरोना संक्रमण, संक्रमित मरीजों की संख्या पहुंची 17, अस्पताल नहीं कर पा रहा वैरियंट की जांच

अधिकारी ने बताया की हीरा गौड़ा डायबिटीज और हाइपर टेंशन से पीड़ित था। 24 फरवरी को उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उसका इलाज चल ही रहा था की 1 मार्च को उसकी मौत हो गई, छह मार्च को मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी।

जानकारी के मुताबिक पांच दिन पहले ही कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर ने एच 3 एन 2 के मामले में संबंधित अफसरों के साथ उच्चस्तरीय बैठक की थी, उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार ने हर हफ्ते 25 से 30 टेस्ट्स का टारगेट दिया है। मंत्री ने आगे बताया कि यह संक्रमण 15 साल से छोटे बच्चों और 65 साल से ज्यादा उम्र के लोगों में ज्यादा देखा जा रहा है।