चीन को पीछे छोड़ 2023 तक सर्वाधिक आबादी वाला देश बन जाएगा भारत: UN ने जारी की चौंकाने वाली रिपोर्ट

रिपोर्ट में कहा गया कि भारत जैसे देश को अपनी आबादी पर नियंत्रण रखना होगा। अगर वह अपने यहां पर किसी तरह का कदम नहीं उठाता है, तो उसके लिए इतनी बड़ी जनसंख्या को संभालना मुश्किल होगा।

Updated: Jul 11, 2022, 12:33 PM IST

चीन को पीछे छोड़ 2023 तक सर्वाधिक आबादी वाला देश बन जाएगा भारत: UN ने जारी की चौंकाने वाली रिपोर्ट
Photo Courtesy: TheWonk

नई दिल्ली। बेरोजगारी और आर्थिक तंगी से जूझ रहे भारत में जनसंख्या वृद्धि की समस्या विकराल होती जा रही है। इसी बीच संयुक्त राष्ट्र ने एक चौंकाने वाली रिपोर्ट जारी की है। इसमें कहा गया है कि भारत अगले साल तक दुनियाभर में सबसे ज्यादा आबादी वाला देश बन जाएगा।

सोमवार को आई इस रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत का अगले साल दुनिया के सबसे अधिक आबादी वाले देश के रूप में चीन से आगे निकलने का अनुमान है।संयुक्त राष्ट्र के जनसंख्या विभाग की आर्थिक और सामाजिक मामलों की इकाई ने विश्व जनसंख्या संभावना 2022 में कहा है कि दुनिया की जनसंख्या मध्य नवंबर 2022 तक आठ अरब तक पहुंचने का अनुमान है।

यह भी पढ़ें: भगोड़े कारोबारी विजय माल्या को SC ने सुनाई चार महीने की सजा, दो हजार का जुर्माना भी लगाया

यूएन की इस रिपोर्ट के मुताबिक, 2022 में भारत की आबादी 1.412 अरब है, जबकि चीन की आबादी 1.426 अरब है। अनुमान है कि भारत में 2050 में 1.668 बिलियन की आबादी होगी, जो सदी के मध्य तक चीन के अनुमानित 1.317 बिलियन जनसंख्या से काफी ज्यादा है।

विश्व जनसंख्या दिवस (11 जुलाई) के मौके पर जारी इस रिपोर्ट में कहा गया कि भारत जैसे देश को अपनी आबादी पर नियंत्रण रखना होगा। अगर वह अपने यहां पर किसी तरह का कदम नहीं उठाता है, तो उसके लिए इतनी बड़ी जनसंख्या को संभालना मुश्किल होगा। यहां पर रहने वालों लोगों के लिए संसाधनों में कमी आएगी।

यह भी पढ़ें: नन्हीं गोद में शव का बोझ: छोटे भाई की लाश लिए सड़क किनारे बैठा रहा मासूम, सस्ता शव वाहन ढूंढता रहा पिता

दुनिया का आबादी सन 1950 के बाद से सबसे न्यूनतम गति से बढ़ रही है, जिसमें 2020 में एक फीसदी की गिरावट आई थी। संयुक्त राष्ट्र के हालिया अनुमानों में कहा गया है कि 2030 तक दुनिया की जनसंख्या 8.5 बिलियन और 2050 तक 9.7 बिलियन तक पहुंच जाएगी। रिपोर्ट के मुताबिक, 2080 तक दुनिया भर में 10.4 बिलियन के आसपास लोग होंगे।