मुश्किल में फंसे मनीष सिसोदिया, सीबीआई ने FIR में बनाया आरोपी नंबर 1, कुल 15 लोगों के नाम

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया सहित 15 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। इनमें आबकारी अधिकारी, शराब कंपनी के अधिकारी, डीलर भी शामिल हैं।

Updated: Aug 19, 2022, 07:20 PM IST

मुश्किल में फंसे मनीष सिसोदिया, सीबीआई ने FIR में बनाया आरोपी नंबर 1, कुल 15 लोगों के नाम

नई दिल्ली। आबकारी नीति मामले में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं। आप नेता के खिलाफ सीबीआई ने एफआईआर दर्ज की है। सीबीआई ने एफआईआर में मनीष सिसोदिया को आबकारी नीति मामले में पहला आरोपी बनाया है। जबकि कुल 15 आरोपी बनाए गए हैं।

FIR की कॉपी में 16वें नंबर पर अननोन पब्लिक सर्वेंट और प्राइवेट पर्सन का जिक्र है। यानी जांच एजेंसी आगे कुछ और लोगों के नाम भी FIR में जोड़ सकती है। इससे पहले सीबीआई ने सिसोदिया के आवास समेत 7 राज्यों में 21 ठिकानों पर छापेमारी की थी। सीबीआई ने यह कार्रवाई उस मामले में की है, जिसमें सिसोदिया और कई शीर्ष आबकारी अधिकारियों के खिलाफ हाल ही में शराब नीति को लागू करने में कथित भ्रष्टाचार को लेकर मामला दर्ज किया गया था।

यह भी पढ़ें: अन्य दल चाहें तो नीतीश कुमार 2024 में पीएम पद के लिए विकल्प हो सकते हैं: जेडीयू

आबकारी पॉलिसी को लेकर चल रहे इस रेड में मनीष सिसोदिया के अलावा 3 पब्लिक सर्वेंट और शामिल हैं, बाकी अन्य लोग है। छापे पर AAP ने कहा कि यह कार्रवाई केजरीवाल को रोकने के लिए की गई है। राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा ने कहा, "CBI ने अरविंद केजरीवाल के यहां छापा मारा, केवल चार मफलर मिले थे और मनीष सिसोदिया के घर में उन्हें केवल पेंसिल, नोटबुक और ज्योमेट्री बॉक्स मिलेंगे।"

वहीं BJP नेता कपिल मिश्रा ने दावा किया है कि विदेशी अखबारों में छपा फोटो दिल्ली के सरकारी स्कूल का नहीं बल्कि प्राइवेट स्कूल का है। इसके पहले भाजपा ने यह भी आरोप लगाया था कि पंजाब चुनाव से पहले केजरीवाल और शराब माफिया में डील हुई थी।