सरिस्का के जंगलों में लगी भीषण आग, 10KM तक फैली लपटें, बुझाने में जुटे एयरफोर्स के हेलीकॉप्टर

अलवर के सरिस्का टाइगर रिजर्व में लगी आग ने अब विकराल रूप धारण कर लिया गया है, जिस पर काबू पाने के लिए भारतीय सेना के हेलीकॉप्टरों की मदद ली जा रही है

Updated: Mar 30, 2022, 01:50 AM IST

सरिस्का के जंगलों में लगी भीषण आग, 10KM तक फैली लपटें, बुझाने में जुटे एयरफोर्स के हेलीकॉप्टर

अलवर। राजस्‍थान के मशहूर सरिस्‍का टाइगर रिजर्व के जंगलों में भीषण आग लग गयी है। आग बुझाने के लिए एयरफोर्स के हेलीकॉप्‍टरों का इस्‍तेमाल किया जा रहा है। अधिकारियों के मुताबिक आग की लपटें 10 स्‍क्‍वेयर किलोमीटर से ज्‍यादा के एरिये में फैल गई है। जिसका आकार 1800 फुटबॉल मैदान के बराबर है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक वायुसेना के दो हेलीकॉप्‍टर आग से प्रभावित क्षेत्रों में पानी का छिड़काव कर आग बुझाने में जुटे हुए हैं। बताया जा रहा है कि सरिस्‍का रिजर्व में यह आग सोमवार शाम को लगी थी। वन अधिकारी इसे बुझाने के प्रयास में जुटे थे, लेकिन देखते ही देखते आग ने विकराल रूप धारण कर लिया। आनन-फानन में एयरफोर्स से मदद मांगी गई।

वायुसेना के हेलीकॉप्‍टर सिलीसेढ़ झील से पानी लाकर अग्निप्रभावित क्षेत्रों में छिड़काव कर रहे हैं।यह झील सरिस्‍का टाइगर रिजर्व से करीब 43 किमी दूर है। बाघिन ST 17 के क्षेत्र में भी आग लगने का खतरा है जो अपने दो शावकों के साथ है। वन अधिकारियों ने आशंका जताते हुए कहा कि आग फैलने की स्थिति में इनका दम घुट सकता है। 

अलवर की एडीएम सुनीता पंकज ने बताया कि हेलिकॉप्टर एक राउंड में साढ़े 3 हजार लीटर पानी एअरलिफ्ट कर ले जा रहे हैं। हेलिकॉप्टर में फ्यूल भरने के लिए टैंकर की व्यवस्था भी की गई हैं। सबसे पहले उस इलाके में आग का शांत करने की कोशिश की जा रही हैं जहां इसका रूप ज्यादा विकराल है या फिर जहां पर ज्यादा वन्य जीव पाएं जाते हैं। इसके अलावा जंगलों से सटे गांवों को भी आग से बचाने की कोशिश की जा रही है। 

बता दें कि सरिस्का टाइगर रिजर्व तेंदुओं, जंगली कुत्‍तों, बाघों, लकड़बग्‍घों और सियारों का बसेरा है।