जहांगीरपुरी हिंसा के बीच कल सूर्यास्त के बाद लाल किले से देश को संबोधित करेंगे पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिख गुरु तेग बहादुर के 400वें प्रकाश पर्व के अवसर पर गुरुवार को लाल किले से देश को संबोधित करेंगे

Updated: Apr 20, 2022, 09:31 AM IST

जहांगीरपुरी हिंसा के बीच कल सूर्यास्त के बाद लाल किले से देश को संबोधित करेंगे पीएम मोदी

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिख गुरु तेग बहादुर के 400वें प्रकाश पर्व के अवसर पर गुरुवार को लाल किले से देश को संबोधित करेंगे। यह पहली बार है जब प्रधानमंत्री मुगलकालीन स्मारक से सूर्यास्त के बाद देश को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री लाल किले की प्राचीर के बजाए लॉन से अपना संबोधन देंगे। जहांगीरपुरी हिंसा को देखते हुए प्रधानमंत्री की सुरक्षा सख्त होगी।

लाल किले में एक बहुस्तरीय सुरक्षा घेरा बनाया जाएगा, जिसमें दिल्ली पुलिस के 1,000 से अधिक जवान और विभिन्न एजेंसियों के बल शामिल होंगे। यहीं से पीएम देश को संबोधित करेंगे। लाल किला परिसर के अंदर 100 से अधिक सीसीटीवी कैमरे पहले ही लगाए जा चुके हैं, जिसमें वह स्थान भी शामिल है जहां से पीएम मोदी राष्ट्र को संबोधित करेंगे। इस मौके पर पीएम मोदी एक स्मारक सिक्का और डाक टिकट भी जारी करेंगेr।

रिपोर्ट्स के मुताबिक लाल किले में एनएसजी स्नाइपर्स, स्वाट कमांडो, पतंग पकड़ने वाले, कैनाइन यूनिट और शार्पशूटर को तैनात किया जाएगा। कोरोना को देखते हुए  सोशल डिस्टेंसिंग के मानदंडों का पालन करना अनिवार्य होगा। अधिकारियों ने बताया कि हमने पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था की है। हम कई सुरक्षा एजेंसियों के साथ समन्वय कर काम कर रहे हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सभी व्यवस्थाएं तोड़फोड़ विरोधी दृष्टिकोण से भी हों।'

संस्कृति मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि किले को आयोजन स्थल के रूप में इसलिए चुना गया है क्योंकि यहीं से 1675 में मुगल शासक औरंगजेब ने सिखों के नौवें गुरु, गुरु तेग बहादुर की जान लेने का आदेश दिया था। प्रधानमंत्री मोदी रात में साढ़े नौ बजे देश को संबोधित करेंगे और उनके भाषण में विभिन्न धर्मों और समुदायों के बीच सौहार्द पर जोर रहेगा। इस मौके पर 400 सिख संगीतकार ‘‘शबद कीर्तन'' करेंगे और लंगर का भी आयोजन होगा।