आगामी चुनावों को लेकर प्रशांत किशोर ने दिया प्रजेंटेशन, कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के साथ हुई 3.30 घंटे लंबी मीटिंग

चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर के प्रजेंटेशन में कांग्रेस के लगभग पंद्रह बीस नेता शामिल हुए... किशोर के सुझावों पर विचार के लिए एक समिति बनायी गयी है.. यह समिति एक हफ़्ते में अपनी रिपोर्ट कांग्रेस नेतृत्व को सौंपेगी

Updated: Apr 16, 2022, 05:33 PM IST

आगामी चुनावों को लेकर प्रशांत किशोर ने दिया प्रजेंटेशन, कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं के साथ हुई 3.30 घंटे लंबी मीटिंग

नई दिल्ली। कांग्रेस ज्वाइन करने की तमाम अटकलों के बीच आज प्रशांत किशोर ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को अपनी चुनावी रणनीति का लेखा-जोखा पेश किया है। किशोर ने इस प्रजेंटेशन में कांग्रेस को आनेवाले लोकसभा चुनावों की रणनीति कैसे बनायी जाए यह सुझाया है। लगभग साढ़े तीन घंटे चली इस मीटिंग के बाद कांग्रेस ने इस पर विचार के लिए वरिष्ठ नेताओं की एक कमेटी बनायी है, जो एक हफ्ते में अपनी रिपोर्ट देगी। 

दस जनपथ पर हुई इस मीटिंग में कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के अलावा राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, वेणुगोपाल, मल्लिकार्जुन खडगे, दिग्विजय सिंह, अंबिका सोनी, अजय माकन और G32 ग्रुप के मुकुल वासनिक भी शामिल हुए। लगभग 15-20 नेताओं की मौजूदगी में प्रशांत किशोर ने पहली बार आनेवाले लोकसभा चुनाव की रणनीति का ब्यौरा सबके सामने रखा। माना जा रहा है कि इस दौरान किशोर ने गठबंधन का फॉर्मूला और कांग्रेस कितनी सीटों पर चुनाव लड़े इसका खाका पेश किया है। सूत्रों के मुताबिक प्रशांत किशोर ने कांग्रेस को उसकी कमज़ोरियों से अवगत कराया और लोकसभा चुनाव में 543 में से 370 सीटों पर ही चुनाव लड़ने का सुझाव दिया है। 

Read More: सेंधवा में नहीं मिली मेधा पाटेकर को एंट्री, पुलिस ने वकीलों को भी रोका, कई घंटों तक गाड़ियों का किया पीछा

प्रशांत किशोर की रणनीति पार्टी के लिए लाभप्रद है या नहीं इसपर कांग्रेस के रुख के लिए सुझाव कमेटी की रिपोर्ट का इंतज़ार करना होगा। लेकिन प्रशांत किशोर के हवाले से कई बार ऐसी खबरें आ चुकी हैं, जिसमें वे कांग्रेस को सभी विपक्षी पार्टियों के साथ मिलकर आने वाले चुनाव में उतरने की सलाह दे चुके हैं। हाल ही उनका एक सुझाव काफी चर्चा में भी रहा जब उन्होंने गुजरात चुनाव में कांग्रेस को आम आदमी पार्टी के साथ मिलकर चुनाव में लड़ने का सुझाव दिया।

बीते कुछ हफ्तों में प्रशांत किशोर कांग्रेस नेताओं से कई बार मिल चुके हैं.. और बार बार उनके पार्टी ज्वाइन करने की अटकलें लगायी जाती रही हैं। इस बीच कांग्रेस जल्द ही अपनी कार्यसमिति की मीटिंग भी करने जा रही है, ताकि आनेवाले चिंतन शिवर का खाका तैयार किया जा सके। पांच राज्यों के चुनावी हार से टूटी कांग्रेस में जान डालने के लिए कांग्रेस अपने कार्यकर्ताओं और नेताओं के साथ जल्द ही चिंतिन शिवर करने की तैयारी में है, जिसका ऐलान चुनावी हार के बाद ही कर दिया गया था।