राज्यसभा के तीन और विपक्षी सांसद निलंबित, अबतक कुल 27 सांसद हो चुके हैं सस्पेंड

राज्यसभा में गुरुवार को विपक्ष के तीन और सांसदों का निलंबन हुआ है। निलंबित होने वाले सांसदों में आम आदमी पार्टी के संदीप पाठक, सुशील गुप्ता और असम के सांसद अजित भुइयां शामिल हैं।

Updated: Jul 28, 2022, 12:59 PM IST

राज्यसभा के तीन और विपक्षी सांसद निलंबित, अबतक कुल 27 सांसद हो चुके हैं सस्पेंड

नई दिल्ली। राज्यसभा से विपक्ष के सांसदों का निलंबन थम नहीं रहा है। गुरुवार को राज्यसभा से विपक्ष के तीन सांसद निलंबित हुए। निलंबित होने वाले सांसदों में आम आदमी पार्टी के संदीप पाठक, सुशील गुप्ता और असम के सांसद अजित भुइयां शामिल हैं। 

अब तक राज्यसभा में कुल 23 सांसदों को निलंबित किया जा चुका है वहीं लोकसभा से चार सांसद सस्पेंड किए गए हैं। यानी मॉनसून सत्र में अबतक 27 सांसदों के खिलाफ निलंबन की कार्रवाई हो चुकी है। इस निलंबन के खिलाफ सांसद 50 घंटे का धरना भी दे रहे हैं, जिसके तहत पांच सांसदों ने गर्मी और मच्छरों के बीच संसद परिसर में भी रात गुजारी। ये धरना आज भी जारी है।

यह भी पढ़ें: सागर में एक ही सिरिंज से 30 छात्रों को लगाया कोरोना टीका, वैक्सीनेटर के खिलाफ केस दर्ज

विपक्षी दलों का कहना है कि उनके लोकतांत्रिक अधिकारों का उल्‍लंघन किया जा रहा है। कांग्रेस का यह भी कहना हैं कि उसे अपने शीर्ष नेतृत्‍व को 'परेशान' करने के लिए जांच एजेंसियों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने की भी इजाजत नहीं दी जा रही। ऐसा करने पर पार्टी कार्यकर्ताओं को अरेस्‍ट किया जा रहा है। कांग्रेस के इन आरोपों पर पलटवार करते हुए केंद्र ने भारत के सबसे पुरानी पार्टी कानूनी प्रक्रिया में बाधा डालने का प्रयास करके और हंगामा करके अपने नेताओं के लिए 'ढाल' बनने का आरोप लगाया।

सरकार ने निलंबित सांसदों से माफी मांगने को कहा है। इसपर टीएमसी सांसद मौसम नूर ने कहा कि  माफी मांगने का सवाल ही नहीं है। हम चाहते हैं कि संसद में महंगाई पर चर्चा हो लेकिन हमें निलंबित कर दिया गया। हमारा 50 घंटे लंबा धरना जारी रहेगा।