TRP Scam Update: रिपब्लिक टीवी के CEO से 9 घंटे तक पूछताछ, COO से भी 5 घंटे तक हुए सवाल-जवाब

Republic TV Questioned: मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने रिपब्लिक टीवी के CEO और COO को सोमवार को दस्तावेज लेकर फिर से बुलाया है

Updated: Oct-11, 2020, 08:09 PM IST

TRP Scam Update: रिपब्लिक टीवी के CEO से 9 घंटे तक पूछताछ, COO से भी 5 घंटे तक हुए सवाल-जवाब
File Photo Courtesy: Janta Ka Reporter

मुंबई। मुंबई पुलिस ने धांधली करके TRP बढ़वाने के मामले में मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने आज रिपब्लिक टीवी चैनल के CEO विकास खानचंदानी से 9 घंटे तक पूछताछ की। उनके अलावा पुलिस ने कंपनी के चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर यानी COO हर्ष भंडारी से भी 5 घंटे तक सवाल-जवाब किए। अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक रिपब्लिक टीवी के दोनों ही अधिकारियों को मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने पूछताछ के लिए सम्मन भेजकर तलब किया था। अखबार के मुताबिक इनके अलावा मुंबई पुलिस ने आज रिपब्लिक टीवी के डिस्ट्रीब्यूशन प्रमुख घनश्याम सिंह से भी दमन में पूछताछ की है। इन तीनों ही अधिकारियों को पुलिस ने सोमवार को दस्तावेजों के साथ फिर से पूछताछ के लिए तलब किया है।  

मीडिया में आई खबरों के मुताबिक मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने शनिवार को रिपब्लिक टीवी के सीईओ और दो चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर्स को सम्मन भेज कर पूछताछ के लिए तलब किया था। जिसके बाद कंपनी के सीईओ विकास खानचंदानी और चीफ ऑपरेटिंग ऑफिसर हर्ष भंडारी आज पूछताछ के लिए पेश हुए। पुलिस इस केस के सिलसिले में अब तक चार लोगों को गिरफ्तार भी कर चुकी है।

इससे पहले रिपब्लिक टीवी के चीफ फाइनेंस ऑफिसर शिव सुब्रमण्यम सुंदरम और घनश्याम सिंह नाम के एक अन्य अधिकारी ने मुंबई पुलिस की जांच टीम के सामने पूछताछ के लिए पेश होने से इनकार कर दिया था। इन अधिकारियों का कहना था कि उनकी कंपनी रिपब्लिक टीवी ने TRP में गड़बड़ी के मामले में सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है, लिहाजा वे पुलिस की जांच टीम के सामने पेश नहीं होंगे।

मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच ने ब़ॉक्स सिनेमा और फक्त मराठी चैनलों के दो कर्मचारियों को भी पूछताछ के लिए बुलाया था। मुंबई के पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ये दावा कर चुके हैं कि रिपब्लिक टीवी समेत तीन चैनलों ने धांधली करके अपनी TRP बढ़वाने का काम किया है। पुलिस के मुताबिक इन चैनलों द्वारा की जा रही धांधली का खुलासा उस वक्त हुआ जब TRP का हिसाब रखने वाली संस्था ब्रॉडकास्ट ऑडिएंस रिसर्च काउंसिल (BARC) ने हंसा रिसर्च ग्रुप प्राइवेट लिमिटेड के माध्यम से इसकी शिकायत पुलिस से की।

यह भी पढ़ें: एक आरोपी के पास मिले 1 करोड़, रिपब्लिक समेत तीनों चैनलों के खातों की होगी फॉरेंसिक जांच

गौरतलब है कि मुंबई के पुलिस कमिश्नर अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में खुलासा कर चुके हैं कि रिपब्लिक टीवी समेत ये चैनल उन लोगों को पैसे देकर लगातार अपना चैनल देखने को कहते थे, जिनके घरों में TRP दर्ज करने वाले बैरोमीटर लगे हुए थे। इस बीच, खबर ये भी आ चुकी है कि मुंबई पुलिस ने इस धांधली की जांच के दौरान गिरफ्तार एक शख्स के खाते में 1 करोड़ रुपये की रकम जमा किए जाने का पता लगाया है।