हम जीतेंगे, हम जीतेंगे, हम जीतेंगे- यही हमारा संकल्प है, यही हमारा नव संकल्प है: सोनिया गांधी

कांग्रेस नफरत और हिंसा की विचारधारा से लड़ रही है, यह मेरी आजीवन लड़ाई है: राहुल गांधी

Updated: May 15, 2022, 05:48 PM IST

हम जीतेंगे, हम जीतेंगे, हम जीतेंगे- यही हमारा संकल्प है, यही हमारा नव संकल्प है: सोनिया गांधी
Photo Courtesy : Times Of India

उदयपुर। राजस्थान के उदयपुर में चल रहे कांग्रेस के चिंतन शिविर समापन को संबोधित करते हुए कांग्रेस नेता सोनिया गांधी ने ऐलान किया कि हम 2 अक्टूबर से गांधी जयंती के दिन 'राष्ट्रीय कन्याकुमारी से कश्मीर भारत जोड़ों यात्रा' शुरू करेंगे। सभी युवा और बुजुर्ग नेता इस यात्रा में हिस्सा लेंगे।

 


अपने संबोधन के अंत में सोनिया गांधी ने तीन बार जोर देकर कहा कि "हम जीतेंगे, हम जीतेंगे, हम जीतेंगे- यही हमारा संकल्प है, यही हमारा नव संकल्प है। सोनिया गांधी ने कहा कि मैंने निर्णय लिया है कि कांग्रेस कार्यसमिति में से सलाहकार समूह बनाया जाएगा।जिसकी बैठकों में पार्टी के सामने आने वाली चुनौतियों और राजनीतिक मुद्दों पर लगातार चर्चा होगी।

यह भी पढ़ें: दफ्तर दरबारी: अफसर बदलने के पीछे क्‍या है सीएम शिवराज का राजनीतिक संदेश


राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस नफरत और हिंसा की विचारधारा से लड़ रही है, यह मेरी आजीवन लड़ाई है। क्षेत्रीय दल भाजपा से नहीं लड़ सकते, हमें लोगों के साथ अपने संबंधों को पुनर्जीवित करना होगा और यह स्वीकार करना होगा कि ये टूट गए हैं। हम इन्हें मजबूत करेंगे, इसके लिए कड़ी मेहनत करेंगे। इस देश में ऐसा कोई धर्म, जाति का व्यक्ति नहीं है, जो यह कह दे कि उसने कांग्रेस के लिए दरवाजे बंद कर दिए हो, कांग्रेस सबकी पार्टी है।

यह भी पढ़ें: भारत ने रचा इतिहास, थॉमस कप बैडमिंटन टूर्नामेंट के फाइनल में इंडोनेशिया को हराया

गौरतलब है कि राजस्थान के शहर उदयपुर में कांग्रेस कांग्रेस पार्टी का तीन दिवसीय चिंतन शिविर का आयोजन का आज आखिरी दिन था। आयोजन में  देश के 430 नेताओं ने 6 अलग अलग  समितियों के माध्यम से अपने विचार रखे और कांग्रेस के आगामी भविष्य को लेकर चिंतन किया। आज चिंतन शिविर के आखरी दिन कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक हुई, जिसमें कांग्रेस में बदलावों पर मुहर लगी।