विदेशों में जारी है साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, भारत में नजर नहीं आएगी साल की आखिरी खगोलीय घटना

4 दिसंबर का सूर्य ग्रहण दक्षिण अमेरिका और अफ्रीका में सुबह दिया दिखाई, जबकि ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में सूर्यास्त के समय आएगा नजर, पश्चिमी अंटार्कटिका में दो मिनट के लिए छा जाएगा अंधेरा

Publish: Dec 04, 2021, 01:42 PM IST

विदेशों में जारी है साल का आखिरी सूर्य ग्रहण, भारत में नजर नहीं आएगी साल की आखिरी खगोलीय घटना
Photo Courtesy: pixabay

शनिवार 4 दिसंबर 2021 को वर्ष का अंतिम सूर्य ग्रहण जारी है। यह सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा। यह केवल अंटार्कटिका, ऑस्ट्रेलिया,  दक्षिण अमेरिका, दक्षिण अफ्रीका और दक्षिणी अटलांटिक में नजर आएगा। एस्ट्रोनॉट्स का कहना है कि अंटार्कटिका में अक्टूबर महीने से सूर्य अस्त नहीं हुआ है। इस सूर्य ग्रहण के दौरान शनिवार को पश्चिमी अंटार्कटिका में एक समय पर ऐसी स्थिति बनने वाली है जब बर्फ पर करीब दो मिनट के लिए अंधेरा छा जाएगा। वास्तव में पृथ्वी सबसे दूर दक्षिणी महाद्वीप इनदिनों गर्मियों के लंबे दिन जारी हैं, जो कि अक्टूबर के मध्य से अप्रैल की शुरुआत तक रहते हैं।

4 दिसंबर को सूर्य ग्रहण के दौरान, चंद्रमा ठीक सूर्य के सामने से गुजरने वाला है। जो कि उसकी किरणों को अंटार्कटिका पर पड़ने से रोक देगा। जिसकी वजह से सूर्य ग्रहण की स्थिति निर्मित होगी। इस सूर्य ग्रहण की छाया अर्जेंटीना, ब्रिटिश और चिलियन अंटार्कटिक क्षेत्रों से गुजरेगी। वहीं मैरी बाइर्ड लैंड को भी यह छाया पार करेगी। इसके रास्ते में पड़ने वाले क्षेत्र में चंद मिनट के लिए ग्रहण की छाया से ढंक जाएंगे। जिससे वहां अंधेरे का एहसास होगा।

यह सूर्य ग्रहण दक्षिण अमेरिका, अफ्रीका, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड में आंशिक है। दक्षिण अमेरिका और अफ्रीका में सुबह जबकि ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में सूर्यास्त के समय सूर्य ग्रहण होने वाला है। सूर्यास्त के दौरान सूर्य ग्रहण का पता लगाना कठिन होता है। अगर ग्रहण के दौरान सूर्य का 80 प्रतिशत या इससे ज्यादा भाग ढंका ना हो, तो इसे पहचानने में कठिनाई भी हो सकती है।

4 दिसंबर के ठीक 15 दिन पहले 19 नवंबर को साल का आखिरी चंद्र ग्रहण पड़ा था। उसे सदी का सबसे लंबा चंद्र ग्रहण कहा गया था, यह संयोग करीब 581 साल बाद 19 नवंबर को बना था। वहीं शनिवार को 4 दिसंबर शनि अमावस्या के दिन साल के आखिरी सूर्य ग्रहण का विशेष संयोग बन रहा है। इस ग्रहण की अवधि करीब 4 घंटे हैं। यह पूर्ण सूर्य ग्रहण शनिवार 10.59 से शुरू होकर दिन में 03.07 बजे तक होने जा रहा है। इस साल 10 जून 2021 को पहला सूर्य ग्रहण हुआ था। वह ग्रहण भी भारत में नजर नहीं आया था।

अगले साल 2022 में भी दो सूर्य ग्रहण पड़ेंगे, दोनों ही शनिवार के दिन होंगे और भारत में नजर नहीं आएंगे। पहला सूर्य ग्रहण अप्रैल में जबकि दूसरा अक्टूबर 2022 में होगा। 2022 का पहला सूर्य ग्रहण 30 अप्रैल को दिन में 12:15 से शाम 04:07 बजे तक होगा। यह आंशिक सूर्य ग्रहण दक्षिणी/पश्चिमी अमेरिका, पेसिफिक अटलांटिक और अंटार्कटिका में नजर आएगा। जबकि दूसरा सूर्य ग्रहण 25 अक्तूबर 2022 को शाम 04:29 से शाम 05: 42 बजे तक होगा। यह आंशिक सूर्य ग्रहण यूरोप, दक्षिणी/पश्चिमी एशिया, अफ्रीका और अटलांटिका में दिखाई देगा। दोनों सूर्य ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देने की वजह से यहां कोई सूतक काल नहीं होगा।