आज अंतरिक्ष यात्रा पर जाएगी भारत की बेटी सिरिशा बांदला, कल्पना चावला के बाद स्पेस जाने वाली दूसरी भारतीय महिला

स्पेस टूरिज्म के इतिहास में सबसे बड़ा उड़ान, वर्जिन ग्रुप के फॉउंडर ब्रैनसन आज अंतरिक्ष की सैर पर जाएंगे, भारत में जन्मी सिरिशा बांदला भी होंगी साथ

Updated: Jul 11, 2021, 01:36 PM IST

आज अंतरिक्ष यात्रा पर जाएगी भारत की बेटी सिरिशा बांदला, कल्पना चावला के बाद स्पेस जाने वाली दूसरी भारतीय महिला
Photo Courtesy: The news minute

न्यू मैक्सिको। ब्रिटेन के मशहूर कारोबारी और अमेरिकी अंतरक्षियान कंपनी वर्जिन गैलेक्टिक के मालिक रिचर्ड ब्रैनसन आज अपनी कंपनी की ओर से अंतरिक्ष की सैर पर जाएंगे। खास बात यह है की अंतरिक्ष यात्रा करने वाले लोगों की इस टीम में भारत की बेटी सिरिशा बांदला भी शामिल हैं। सिरिशा अंतरिक्ष की यात्रा करने वाली दूसरी भारतीय महिला होंगी। इसके पहले कल्पना चावला ही यह कमाल कर पाईं हैं।

अंतरिक्ष यात्रा से पहले सिरिशा ने कहा है कि मैं भारत को भी अपने साथ उपर लेकर जा रही हूं। रिचर्ड ब्रैनसन ने इस बारे में कहा है कि अगर यह उड़ान कामयाब रही तो उनकी कंपनी वर्जिन अंतरिक्ष के लिए कॉमर्शियल टूर शुरू करने की ओर सबसे बड़ा पड़ाव पार कर लेगी। इससे पहले अमेजन के फाउंडर जेफ बेजोस ने स्पेस में जाने का ऐलान किया था। ऐसा करने वाले वो पहले शख्स होते, लेकिन रिचर्ड ब्रैनसन ने उन्हें इतिहास बनाने से रोक दिया। उन्होंने उनसे पहले ही स्पेस में जाने का योजना बना लिया। 

यह यात्रा भारतीय समयानुसार आज शाम 6 बजे स्पेसपोर्ट अमेरिका, न्यू मैक्सिको से शुरू होगी। इसका लाइव प्रसारण भी किया जाएगा। लाइव देखने के लिए आप VirginGalactic.com वेबसाइट विजिट कर सकते हैं। इस यात्रा की अवधि करीब 2.5 घंटे की होगी। पृथ्वी से करीब 90-100 किलोमीटर की ऊंचाई पर अंतरिक्ष यान जाएगी। इस सफर को देखने के लिए टेस्ला के सीईओ एलन मस्क भी मौजूद रहेंगे।

यह भी पढ़ें: नैना धाकड़ ने रचा इतिहास, एवरेस्ट फतह करने वाली पहली छत्तीसगढ़ी महिला बनीं

सिरिशा और उनके साथी एस्ट्रोनॉट करीब 4 मिनट तक अंतरिक्ष में वेटलेसनेस महसूस करेंगे। वहां से पृथ्वी गोल नजर आएगी। इसके बाद ये फ्लाइट पृथ्वी पर लौटेगी और स्पेसपोर्ट के रनवे पर उतरेगी। वर्जिन के संस्थापक रिचर्ड ने कहा कि, ‘वर्जिन ऑर्बिट की उड़ान में कुल मिलाकर 6 लोग होंगे। जिसमें मैं खुद भी शामिल हूं। हम किसी और को अंतरिक्ष पर ले जाने से पहले कंपनी के कर्मचारियों को ले जाना चाहते हैं। यह हमारी अंतरिक्ष में चौथी उड़ान होगी।’

कौन हैं सिरिशा बांदला

आंध्र प्रदेश के गुंटूर जिले के चिराला में 1987 में सिरिशा का जन्म हुआ। उनके पिता बी मुरलीधर और मां अनुराधा अमेरिका में जॉब करते थे। वह जब चार साल की थीं तब उन्होंने अकेले अपने मां-बाप के पास जाने के लिए भारत से अमेरिका तक अकेली उड़ान भरीं थीं। अमेरिका के ह्यूस्टन में नासा का जॉनसन स्पेस सेंटर है, ऐसे में सिरिशा बचपन से ही स्पेश को लेकर आकर्षित होती थीं। इसके बाद उन्होंने इसी फील्ड में अपना करियर बनाने का ठान लिया। 

सिरिशा ने एयरोस्पेस और एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग में 2011 में ग्रेजुएशन किया है। वह NASA जाना चाहती थीं, लेकिन आंख में कुछ कमी की वजह से ऐसा नहीं हो सका। जुलाई 2015 में सिरिशा ने रिचर्ड ब्रैन्सन की कंपनी वर्जिन गैलेक्टिक ज्वॉइन की। महज दो साल में उनके काम से प्रभावित होकर कंपनी ने उनका प्रमोशन कर दिया और वो 2017 में वर्जिन गैलेक्टिक की बिजनेस डेवलपमेंट और गवर्नमेंट अफेयर्स मैनेजर बन गईं।