Bhupesh Baghel: 62 करोड़ से ज़्यादा किसानों के खिलाफ हैं मोदी सरकार के कृषि कानून

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, मोदी सरकार ने उद्योगपतियों के फायदे के लिए बनाए काले क़ानून, किसानों की माँग मानते हुए इन्हें फ़ौरन रद्द किया जाए

Updated: Dec 09, 2020, 12:24 AM IST

Bhupesh Baghel: 62 करोड़ से ज़्यादा किसानों के खिलाफ हैं मोदी सरकार के कृषि कानून
Photo Courtesy: India Tribune

रायपुर। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कृषि कानून को लेकर केंद्र सरकार को आड़े हाथों लिया।भूपेश बघेल ने तीनों कृषि कानूनों को काला कानून बताया। उन्होंने कहा कि बीजेपी इन कानूनों को कृषकों के लिए लाभकारी कहती है, लेकिन ये कानून उद्योगपतियों के फायदे के लिए बनाए गए हैं। उन्होंने कहा कि ये तीन कानून देश के 62 करोड़ से ज़्यादा किसानों के खिलाफ हैं।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि अगर कि अगर सरकार निजी क्षेत्र में मंडी देना चाहती है, हम विरोध नहीं करेंगे, लेकिन एक कानून बना दिया जाए कि कोई मंडी या मंडी के बाहर समर्थन मूल्य से नीचे खरीदी नहीं करेगा। केंद्र सरकार पूरे देश में समर्थन मूल्य पर अनाज खरीदना सुनिश्चित करे। बीजेपी को हठधर्मिता से काम नहीं लेना चाहिए, बल्कि किसानों की आवाज़ सुनते हुए अपनी गलती के लिए किसानों से माफी मांगते हुए इन काले कानूनों को वापस लेना चाहिए।

भूपेश बघेल ने कहा कि आजादी से पहले अंग्रेजों ने देश को लूटा अब देश के पूंजीपति देश को लूटने का काम करेंगे। बीजेपी को हठधर्मिता छोड़कर देश के किसानों की बात सुननी चाहिए, तीनों किसान कानूनों को वापस लिया जाना चाहिए।

गौरतलब है कि मंगलवार को किसानों ने भारत बंद का आह्वान किया था। जिसे कांग्रेस समेत देश की 20 से अधिक राजनैतिक पार्टियों और संगठनों का समर्थन मिला था। छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने कई जगह प्रदर्शन कर किसानों के बंद का समर्थन किया।