विवादित बयान देकर मुश्किल में फंसे सीएम के पिता, भूपेश बघेल बोले पिता सम्मानीय लेकिन कानून सर्वोपरि

पिता के विवादित बयान पर FIR होने पर बोले छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, कहा कानून से बढ़कर कुछ भी नहीं, सार्वजनिक व्यवस्था बिगाड़ने वाली किसी गलती को माफ नहीं किया जा सकता

Updated: Sep 05, 2021, 08:26 PM IST

विवादित बयान देकर  मुश्किल में फंसे सीएम के पिता, भूपेश बघेल बोले पिता सम्मानीय लेकिन कानून सर्वोपरि
Photo courtesy: asianet news

रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के 86 वर्षीय पिता नंद कुमार बघेल इनदिनों चर्चा में हैं। कुछ दिनों पहले उन्होंने लखनऊ में ब्राह्मणों को लेकर एक विवादित बयान दिया था। उन्होंने ब्राह्मणों को विदेशी बताकर बाहर करने की बात कही थी। अब उनके खिलाफ रायपुर के एक थाने में FIR दर्ज हो गई है। इस बारे में प्रदेश के मुखिया भूपेश बघेल का बयान सामने आया है, जिसमें उन्होंने कहा है कि कानून से ऊपर कोई नहीं है, पुलिस कार्रवाई की जाएगी। सीएम के पिता नंद कुमार बघेल के विवादित बयान को लेकर सोशल मीडिया समेत समूचा विपक्ष हमलावर हो गया था।

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोशल मीडिया में चल रही उन सभी अटकलों पर विराम लगा दिया है, जिसमें यह कहा जा रहा था कि नंदकुमार बघेल पर कार्रवाई नहीं की जाएगी, क्योंकि वे सीएम के पिता हैं। अब बघेल ने साफ तौर पर कह दिया है कि उनकी सरकार में कोई भी कानून से ऊपर नहीं है फिर चाहे वो मुख्यमंत्री के पिता ही क्यों न हो।

सीएम के पिता के खिलाफ रायपुर के डीडी नगर थाने में सर्व ब्राह्मण समाज ने केस दर्ज करवाया है। उनपर सामाजिक द्वेष पैदा करने का आरोप है। पुलिस ने धारा 505- समुदायों के बीच शत्रुता, घृणा या वैमनस्य की भावनाएं पैदा करने और धारा 153 A के तहत सामाजिक तनाव बढ़ाने वाला बयान देने का का केस दर्ज किया है।

नंद कुमार बघेल पर आरोप है कि वे ब्राह्मण समाज और देवताओं पर कई तरह के विवादित कमेंट किए हैं। चुनाव के दौरान वे कांग्रेस द्वारा ब्राह्मणों को टिकट दिए जाने की खिलाफत भी कर चुके हैं।

और पढ़ें:  बॉडीगार्ड की मौत के मामले में शुभेंदु अधिकारी को सीआईडी ने भेजा समन, सोमवार को लगानी होगी हाजिरी

मीडिया रिपोर्ट्स का दावा है कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और उनके पिता नंदकुमार बघेल के वैचारिक मतभेद है। दोनों की राजनीतिक विचार और मान्यताएं भी विपरीत हैं। मुख्यमंत्री ने साफ किया है कि वे बेटे के रूप में अपने पिता का सम्मान करता हैं, वहीं छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री के तौर पर उनका मानना है कि सार्वजनिक व्यवस्था बिगाड़ने वाली किसी गलती को माफ नहीं किया जा सकता है।