ऑफलाइन मोड में होगी छत्तीसगढ़ में 12वीं क्लास की बोर्ड परीक्षा, घर में बैठकर छात्र लिखेंगे कॉपियां, आदेश जारी

परीक्षा सेंटर से 1 जून से 5 जून तक मिलेंगे प्रश्न पत्र, घर पर बैठकर छात्रों को देनी होगी परीक्षा, 5 दिनों के भीतर जामा करनी होगी आंसर शीट

Updated: May 23, 2021, 12:03 PM IST

ऑफलाइन मोड में होगी छत्तीसगढ़ में 12वीं क्लास की बोर्ड परीक्षा, घर में बैठकर छात्र लिखेंगे कॉपियां, आदेश जारी
Photo courtesy: BBC

रायपुर। कोरोना महामारी के बीच छत्तीसगढ़ शिक्षा मंडल ने ऐलान किया है कि 12 बोर्ड की परीक्षा संचालित की जाएगी। परीक्षा ऑफलाइन मोड में होगी। छात्र प्रश्नपत्र घर ले जाकर ओपन बुक पैटर्न से घर बैठे परीक्षा दे सकेंगे। परीक्षा के बाद आसंरशीट स्कूलों में ले जाकर जमा करनी होगी। छत्तीसगढ़ शिक्षा बोर्ड ने 12वीं की परीक्षा करवाने के लिए आदेश भी जारी कर दिया है। छात्रों की दुविधा खत्म करते हुए बोर्ड ने परीक्षा लेने का पैटर्न और ताऱीख की घोषणा कर दी है। छात्रों को अपने परीक्षा केंद्र से अपने सब्जेक्ट का प्रश्न पत्र और उत्तर पुस्तिका लेनी होगी। और फिर उत्तर लिखकर उसे 5 दिन के भीतर उसी सेंटर पर जमा करना होगा।

प्रश्नपत्र 1 जून से 5 जून तक बांटे जाएंगे। सेंटर से प्रश्नपत्र लेने के 5 दिनों बाद स्टूडेंट को आंसरशीट जमा करनी होगी। याने जो छात्र एक तारीख को प्रश्न पत्र लेंगे उन्हें हर हाल में 6 तारीख तक कापियां लिखकर सेंटर को जमा करनी होगी। जो छात्र 5 दिनों में आसंरशीट जमा नहीं करेंगे उन्हें परीक्षा में एबसेंट माना जाएगा। बोर्ड ने छात्रों की सुविधा के लिए सरकारी छुट्‌टी के दिन भी सेंटर खोलने का फैसला लिया है। जिससे छात्र तय समय के भीतर अपनी आंसर शीट जमा कर सकें। कोरोना संक्रमण के बचाने के लिए छात्रों को हर सुविधा देने की कोशिश की जा रही है।

छात्रों की सुरक्षा के लिए घर बैठकर परीक्षा देने का फैसला लिया गया है। स्कूलों से उन्हें एक्जाम सेंटर्स के बारे में जानकारी मिलेगी। इस साल 12वीं क्लास की परीक्षा में करीब 2 लाख 71 हजार स्टूडेंट शामिल होंगे।छात्रों को अपनी काफी खुद लिखनी होगी। आंसरशीट के पहले पेज पर छात्रों को पूरी जानकारी भरना होगा, जिसमें साइन, रोल नंबर, सब्जेक्ट कोड, डेट, टाइम, सब्जेक्ट, परीक्षा सेंटर सहित अन्य जानकारियां होंगी।   

आसंरशीट जमा करते अटेंडेंस शीट पर स्कूल में साइन करवाए जाएंगे। हर सब्जेक्ट की आंसर शीट जमा करनी होगी अगर छात्रों ने किसी आंसर शीट का उपयोग नहीं  किया है तो भी उसे खाली कापी भी सेंटर को लौटानी होगी। करना होगा।

आसंरशीट डाक या पोस्ट से नहीं भेजी जा सकेंगी, छात्रों को खुद सेंटर पर जामा करने जाना होगा। परिक्षा सेंटर पर पेपर लेने और कॉपी जमाकरने जाते वक्त सभी को मास्क औऱ सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। इससे पहले राज्य में 10वीं की बोर्ड परीक्षा रद्द कर दी गई थी।  छात्रों को सालभर के परफार्मेंस और असाइनमेंट के आधार पर पास कर दिया गया है। प्रदेश के 97% छात्रों ने फर्स्ट डिवीजन हासिल किया है।