Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी दर घटी, देश का दूसरा सबसे कम बेरोज़गारी वाला प्रदेश बना

Unemployment: छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी दर अब सिर्फ 2 फीसदी, कांग्रेस ने कहा, नवा छत्तीसगढ़ तो अब ऐसे ही रफ्तार पकड़ेगा

Updated: Oct 19, 2020, 07:46 PM IST

Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी दर घटी, देश का दूसरा सबसे कम बेरोज़गारी वाला प्रदेश बना
Photo Courtesy: Patrika

रायपुर। छत्तीसगढ़ में कोरोना काल में मजदूरों को काम देने और उद्योगों में काम शुरु होने का असर दिखाई दे रहा है। भूपेश बघेल सरकार के प्रयासों से छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी की दर में उल्लेखनीय कमी आई है। छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी की दर 2 फीसदी रह गई है। चार महीने के दौरान बेरोजगारी दर में 12.4 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकॉनमी के आंकड़ों के अनुसार असम के बाद भारत में सबसे कम बेरोजगारी वाला प्रदेश छत्तीसगढ़ बन गया है। राज्य की बेरोज़गारी दर देश की औसत बेरोजगारी दर 6.8 प्रतिशत से काफी कम है।

प्रदेश की इस उपलब्धि पर प्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट करते हुए लिखा है कि ‘बेरोजगारी खत्म करने की दिशा में छत्तीसगढ़ कांग्रेस सरकार ने महत्वपूर्ण मुकाम हासिल किया है। पार्टी के इस ट्वीट को मुख्यमंत्री ने रीट्वीट किया है।

यहां बेरोजगारी की दर में पिछले चार महीनों में 12.4% की कमी आई है। जून में जो दर 14.4 फीसदी थी वह सितंबर में 2 फीसदी हो गई है। यह बेरोजारी दर देश के राष्ट्रीय औसत से पांच फीसदी  कम दर्ज की गई है।

गौरतलब है कि अप्रैल के अंतिम सप्ताह से ही प्रदेश में उत्पादन का काम शुरू हो गया था। वहीं प्रदेश में खेती से जुड़ी गतिविधियों में लगातार तेजी आई है। लॉकडाउन के दौरान मजदूरों को मनरेगा में काम दिया गया। वहीं लघु वनोपज की खरीदी से वनवासियों के लिए भी रोजगार के मौके मिले हैं। 

भारत में शहरी क्षेत्रों में बेरोजगारी की दर 7.9 फीसदी और ग्रामीण इलाकों  में 6.3 फीसदी पाई गई है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकानामी द्वारा हाल ही में जारी बेरोजगारी दर के ताजा आंकड़ों के अनुसार बेरोजगारी की दर असम में 1.2 प्रतिशत के बाद छत्तीसगढ़ में सबसे कम 2 फीसदी दर्ज हुई है। यह आंकड़ा देश के दूसरे  विकसित औऱ बड़े प्रदेशों की तुलना में काफी कम है।