अमेजन प्राइम वीडियो की वेब सीरीज पर नहीं थम रहा विवाद, मिर्जापुर के निर्माताओं से सुप्रीम कोर्ट ने किया जवाब तलब, भेजा नोटिस

मिर्जापुर शहर की छवि खराब करने के आरोप में सुप्रीम कोर्ट ने वेबसीरीज मिर्जापुर के प्रोडयूसर, डायरेक्टर और अमेजन प्राइम वीडियो और केंद्र को भेजा नोटिस

Updated: Jan 21, 2021, 01:57 PM IST

अमेजन प्राइम वीडियो की वेब सीरीज पर नहीं थम रहा विवाद, मिर्जापुर के निर्माताओं से सुप्रीम कोर्ट ने किया जवाब तलब, भेजा नोटिस
Photo Courtesy: twitter

दिल्ली। अमेजन प्राइम वीडियो की सुपर हिट वेब सीरीज मिर्जापुर पर शहर की इमेज खराब करने का आरोप लगा है। जिसे लेकर एक जनहित याचिका सुप्रीम कोर्ट में लगाई है। अब सुप्रीम कोर्ट ने सीरीज के निर्माता-निर्देशक, अमेजन प्राइम और केंद्र सरकार को नोटिस भेजकर जवाब तलब किया है। सुप्रीम कोर्ट ने ओटीटी प्लेटफार्म अमेजन प्राइम, केन्द्र सरकार और मिर्जापुर के डायरेक्टर को नोटिस भेजा है। जनहित याचिका में ओटीटी प्लेटफार्म पर दिखाए जानेवाले कंटेट पर लगाम लगाने की मांग की गई थी। 

याचिका में आरोप लगाया गया है कि वेबसीरीज में मिर्जापुर शहर को अवैध गतिविधियों में लिप्त बताया गया है, इससे शहर की छवि को धूमिल होती है। जिसके बाद याचिका पर सुनवाई करते हुए चीफ जस्टिस एस ए बोबडे की अध्यक्षता वाली खंडपीठ ने तीनों को नोटिस भेजकर जवाब मांगा है।

गौरतलब है कि पंकज त्रिपाठी स्टारर मिर्जापुर वेब सीरीज के दोनों सीजन सुपर हिट रहे हैं। अब अमेजन प्राइम वीडियो जल्द ही इसका तीसरा सीजन लाने की तैयारी में है। मिर्जापुर वेबसीरीज को लेकर लोगों में खासा उत्साह नजर आता है। व्यूअर्स इस सीरीज के लिए क्रेजी रहते हैं। मिर्जापुर का दूसरा सीजन सबसे अधिक बार देखा जा चुका है। इसने 48 घंटों में ही सबसे ज्यादा दर्शकों द्वारा रिकार्ड भी अपने नाम किया है।

इसमें पंकज त्रिपाठी, अली फजल, दिव्येंदु शर्मा, श्वेता त्रिपाठी शर्मा, रसिका दुग्गल, हर्षिता शेखर गौड़, अमित सियाल, अंजुम शर्मा, शीबा चड्ढा, मनु ऋषि चड्ढा और राजेश तैलंग ने अपनी एक्टिंग के जलवे बिखेरे थे। सीरीज में मिर्जापुर शहर को अवैध गतिविधियों का अड्डा दिखाया गया है। जिसमें कालीन भईया नाम का एक व्यापारी नेताओं की शह पर अवैध हथियार, अफीम समेत कई काले कारोबार में लिप्त है।

और पढ़ें: तांडव वेब सीरीज़ पर अब मध्य प्रदेश में भी होगा केस, गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने किया एलान

सीरीज पर लगी जनहित याचिका से पहले ही उत्तर प्रदेश फिल्म विकास परिषद के अध्यक्ष राजू श्रीवास्तव ने भी इसके कंटेट को लेकर नाराजगी जाहिर की थी।

और पढ़ें: तांडव वेबसीरीज़ में किए जाएँगे बदलाव, डायरेक्टर ने किया एलान

गौरतलब है कि हाल ही में अली अब्बास जफर के डायरेक्शन में बनी वेब सीरीज तांडव को लेकर भी देश भर में विवाद की स्थिती बन गई है। तांडव पर हिन्दू देवी देवताओं की छवि खराब करने का आरोप है। जिसे लेकर मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र समेत देश के कई प्रदेशों में निर्माता, निर्देशक, एक्टर्स और अमेजन के खिलाफ शिकायतें दर्ज हुई हैं। तांडव के खिलाफ मामला बढ़ने के बाद केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने निर्माताओं को नोटिस भेजा था। वहीं तांडव के डायरेक्टर अली अब्बास जफर ने सोशल मीडिया पर माफी मांगी थी। अब तांडव वेब सीरीज से विवादित सीन हटा दिए गए हैं।

इन सब विवादों के बाद ओटीटी प्लेटफार्म पर दिखाए जाने वाले कंटेट को रेगुलेट करने की मांग लगातार बढ़ती जा रही है।