बाहर खाने के लुत्फ़ का बदला अंदाज़, अब कार में बैठकर लीजिए रेस्तरां का आनंद

अपनी कार में बैठकर QR कोड से तय करें अपनी पंसद का मेन्यू, भीड़ से दूर कार में लें पसंदीदा खाने का मजा, चेन्नई, कानपुर जैसे शहरों में बढ़ी ड्राइव इन रेस्टोरेंट्स की संख्या

Updated: Aug 30, 2021, 08:31 PM IST

बाहर खाने के लुत्फ़ का बदला अंदाज़, अब कार में बैठकर लीजिए रेस्तरां का आनंद
Photo courtesy: The Hindu

कोरोना महामारी के दौर में लोगों के रहन सहन और खान-पान का तरीका पूरी तरह बदल गया है। सामान्य दिनों में जहां लोग बाहर खाना खाने और फैमिली के साथ टाइम बिताने रेस्टोरेंट चले जाते थे, वहीं अब बाहर तो निकलते हैं पर दूर से होटेल के मज़े लेने में ज्यादा यकीन कर रहे हैं। लाइफस्टाइल चेंज हो चुकी है और अब बाहर खाना खाने का ट्रेंड भी बदल गया है। अब लोग ऐसी जगहों पर जाना पसंद कर रहे हैं, जहां उनकी पसंद का खाना भी मिल जाए और भीड़-भाड़ से भी बचे रह सकें। BYOB की तर्ज पर BYOC याने ब्रिंग योर ओन कार का ट्रेंड चल पड़ा है। याने लोग अपनी कार में बैठकर रेस्टोरेंट के खाने का मजा ले सकते हैं। चेन्नई में इनदिनों ऐसे ड्राइव इन रेस्टोरेंट खूब डिमांड में हैं।

चेन्नई में कई ऐसे रेस्टोरेंट खूब फलफूल रहे हैं। यहां पर आप अपनी कार में बैठे-बैठे अपने पसंदीदा इडली, डोसा, छोले भटूरे का मजा ले सकते हैं। यहां सुबह के नाश्ते से लेकर रात के डिनर तक का इंतजाम किया जा रहा है। यहां पर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ पसंदीदा खाने का लुत्फ लेने दूरदूर से लोग आते हैं।

हरियाली के बीच खाने और बच्चों के खेलने का इंतजाम किया गया है। इस खास ड्राइव इन रेस्टोरेंट में बच्चों के खेलने के लिए पर्याप्त स्थान है। यहां पर मार्निंग वॉक के बाद लोग नाश्ता करने भी आते रहे हैं। सुबह 6 बजे से ही गर्मागर्म पोंगल और इडली का लुत्फ है तो वहीं छोले भटूरे, मसाला डोसा, सांबर वड़ा, चिली चीज़, टोस्ट बोंडा और कॉफी मैनू में शामिल हैं। यहां पर आर्डर करने के लिए QR कोड को स्कैन करके मेन्यू देखा जा सकता है। वहीं आप अपनी पसंद का संगीत भी सुन सकते हैं। अगर आपका खाना आने में वक्त है तो आपके लिए कार के पास ही कुछ चेयर्स का इंतजाम भी किया गया है, जिसमें बैठकर आप आराम कर सकते हैं। गाड़ियों की पार्किंग के लिए सोशल डिस्टेंसिंग का भी खयाल रखा गया है। 

कोरोना महामारी के बाद से इस तरह के रेस्टोरेंट का बिजनेस बढ़ा है। रेस्टोरेंट में आए ग्राहकों को पहले एक टेबल टॉप दी जाती है, उसे ऐसे अटैच किया जाता है कि गर्म खाना कार में बैठकर खाने वालों के ऊपर नहीं गिरे। वहीं पर लाकर खाना सर्व किया जाता है। इस ड्राइव इन रेस्टोरेंट में आने वालों के लिए यह एक अनोखा अनुभव प्रदान करता है।

चेन्नई में कई ऐसे रेस्टोरेंट हैं, जो सालों से बंद थे, लेकिन इस नए आइडिया ने उन्हें पूनर्जीवित कर दिया है। यह ट्रेंड भारत के कई अन्य प्रदेशों में भी देखने को मिल रहा है। अर्जुन गार्डन कैफे चेन्नई, खासा किचन कोच्चि, श्री कामची मेस ड्राइव इन रेस्टोरेंट, ड्राइव एंड डाइन BY Dhuaan कानपुर आदि काफी लोकप्रिय हो रहे हैं। कुलमिलाकर कोरोना महामारी ने लुत्फ के रिवाज़ बदल दिए हैं पर भावनाएं वही हैं।