ट्रंप पर चुनाव जीतने के लिए हेराफेरी की कोशिश का आरोप, सामने आई विस्फोटक ऑडियो रिकॉर्डिंग

फ़ोन रिकॉर्डिंग में डोनाल्ड ट्रंप जॉर्जिया के एक वरिष्ठ अधिकारी पर वोटों का जुगाड़ करने के लिए दबाव डाल रहे हैं, वॉशिंगटन पोस्ट और न्यू यॉर्क टाइम्स ने जारी किए हैं ऑडियो

Updated: Jan 04, 2021, 04:36 PM IST

ट्रंप पर चुनाव जीतने के लिए हेराफेरी की कोशिश का आरोप, सामने आई विस्फोटक ऑडियो रिकॉर्डिंग
Photo Courtesy: Financial Times

वॉशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति पद से हटने के जैसे जैसे दिन करीब कर आ रहे हैं, वैसे वैसे एक कर के खुलासे भी हो रहे हैं। अभी डोनाल्ड ट्रंप का एक ऑडियो सामने आया है जिसमें वे जॉर्जिया के चुनाव अधिकारी से अपने पक्ष में वोट 'खोज निकालने' की बात कर रहे हैं ताकि बाइडेन को पछाड़ा जा सके। ट्रंप की इस बातचीत की रिक़ॉर्डिंग अमेरिका के वॉशिंगटन पोस्ट और न्यूयॉर्क टाइम्स जैसे प्रतिष्ठित अखबारों ने जारी की है। 

इन ऑडियो रिकॉर्डिंग्स के मुताबिक ट्रंप ने जॉर्जिया के निर्वाचन अधिकारी ब्रैड रफेंस्पर्गर से कहा है कि वे अमेरिका के इस दक्षिणी राज्य में उनकी जीत सुनिश्चित करने के लिए पर्याप्त वोटों को खोज निकालें। ऑडियो में ट्रंप ब्रैड रफेंस्पर्गर पर बार बार अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए दबाव डाल रहे हैं। ट्रंप यह कहते सुनाई दे रहे हैं कि उन्हें बस 11,780 वोट चाहिए। इतना ही नहीं ट्रंप अधिकारी को तरकीब सुझाते हुए कह रहे हैं कि, ' आप अगर कहेंगे कि आपने फिर से वोटों की गणना की है तो इसमें कुछ ग़लत नहीं है।' इसके बाद रफेंस्पर्गर कहते हैं कि ऐसा कर पाना संभव नहीं है। 

दरअसल अमेरिकी राष्ट्रपति के चुनावों में जो बाइडेन को 306 इलेक्टोरल वोट मिले थे, जबकि मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को 232 इलेक्टोरल वोट मिले थे। जॉर्जिया में भी जो बाइडेन ने ट्रंप पर जीत हासिल की थी। यह कथित ऑडियो परिणाम के समय का ही है। 

अब इस ऑडियो के सामने आने के बाद अमरीका में सियासी तूफान आ गया है। यह ऑडियो हैरान करने वाला इसलिए भी है कि अब तक खुद डोनाल्ड ट्रंप ही जो बाइडेन पर चुनावों में धांधली करने का आरोप लगा रहे थे। लेकिन अब यह ऑडियो तो यही बता रहा है कि खुद डोनाल्ड ट्रंप ही धांधली करने का प्रयास कर रहे थे। 

डोनाल्ड ट्रंप और ब्रैड रफेंस्पर्गर के ऑफिस से इस ऑडियो को लेकर कोई आधिकारिक बयान नहीं आया है। लेकिन अमेरिका में सियासी पारा बढ़ाने के लिए यह ऑडियो काफी है। बाइडेन खेमे ने ट्रंप के वायरल ऑडियो को लोकतंत्र पर प्रहार बताया है।