भोपाल सेंट्रल जेल में कैदी ने की आत्महत्या, चार दिन पहले पुलिस ने किया था गिरफ्तार

चादर का फंदा बनाकर बाथरुम के रोशनदान से लटका युवक, हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा काट रहा था, पिछले साल पैरोल पर छूटकर लापता हो गया था

Updated: Jun 24, 2021, 06:56 PM IST

भोपाल सेंट्रल जेल में कैदी ने की आत्महत्या, चार दिन पहले पुलिस ने किया था गिरफ्तार
Photo Courtesy : Sabrang India

भोपाल। सेंट्रल जेल भोपाल में एक युवक ने कथित रूप से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। बताया जा रहा है कि युवक चादर का फंदा लगाकर बाथरूम के रोशनदान से लटका मिला। हाई सेक्युरिटी भोपाल जेल में आत्महत्या के इस मामले ने सनसनी मचा दी है। 

गांधी नगर थाना प्रभारी अरुण शर्मा ने मीडिया को बताया कि गुरुवार सुबह करीब 10 बजे जेलर पीडी श्रीवास्तव ने आत्महत्या की सूचना दी। मृतक की पहचान रायसेन निवासी 35 वर्षीय खेमचंद के रूम में हुई है। एक साल पहले वह पैरोल पर छूटकर फरार हो गया था। चार दिन पहले ही गांधी नगर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर जेल भेजा था। 

यह भी पढ़ें: हनी ट्रैप गैंग चलाने के आरोप में होशंगाबाद के तीन पुलिसकर्मी सस्पेंड

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। जेलर पीडी श्रीवास्तव के मुताबिक खेमचंद सुबह 6 बजे के बाद सोकर उठा और 7 बजे उसने अन्य कैदियों के साथ चाय पी थी। हालांकि, नाश्ते के वक़्त 8 बजे वह गायब हो गया। थोड़े देर बाद अन्य कैदी जब बाथरूम में पहुंचे तो वह फंदे से लटका मिला। कोरोना गाइडलाइंस के अनुसार उसे आइसोलेशन वार्ड में रखा गया था जिसमें 13-14 अन्य कैदी भी थे।

हालांकि, अजीबोगरीब बात यह है कि जिस रोशनदान से उसने कथित रूप से फांसी लगाई उसकी ऊंचाई महज साढ़े पांच फीट है। ऐसे में लटकने के बाद उसके पैर जमीन पर ही होंगे। हालांकि, पुलिस की थ्योरी है कि लटकते वक़्त उसने पैर आगे की ओर कर लिया होगा। आम तौर पर देखा जाए तो ऐसे केस सामने नहीं आते। बहरहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आने के बाद ज्यादा स्थिति साफ होने की उम्मीद है।