बदमाशों की खिदमत में जुटी भोपाल पुलिस, थाने में मना जुआरियों के बर्थडे का जश्न, टीआई ने कटवाया केक

राजनीतिक दबाव के आगे पुलिस के हौसले पस्त, थाने बुलाकर अपराधियों के बर्थडे केक कटवाए, कांग्रेस बोली- अपराध विभाग के HOD हैं विश्वास सारंग, अपराधियों की डिमांड पर जेल में चीफ गेस्ट बनकर जाते हैं

Updated: Sep 10, 2021, 06:31 PM IST

बदमाशों की खिदमत में जुटी भोपाल पुलिस, थाने में मना जुआरियों के बर्थडे का जश्न, टीआई ने कटवाया केक

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में बदमाशों के धौंस का एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। राजधानी के टीटी नगर थाने में बदमाशों के सम्मान में केक कटिंग समारोह का आयोजन किया गया। आयोजनकर्ता टीटी नगर थाना प्रभारी शैलेंद्र शर्मा थे वहीं बर्थडे कुख्यात बदमाश गोविंद कुशवाह उर्फ लकी का था।

दरअसल, तीन दिन पहले लकी के जन्मदिन के मौके 1250 हॉस्पिटल के पास दर्जनों बदमाश जोर शोर से डीजे बजा रहे थे। इस दौरान टीटी नगर पुलिस ने रात का हवाला देते हुए डीजे बंद करवा दिया। एक थाना प्रभारी ने डीजे बंद करवा दी ये बात बदमाशों को नागवार गुजरी। बताया जा रहा है कि डीजे बंद होने से अपने गुर्गों के बीच अपमानित महसूस करते हुए लकी ने सत्तारूढ़ बीजेपी के नेताओं को अपना दुखड़ा सुनाया। नतीजतन टीआई ने राजनीतिक दबाव में आकर थाने में केक कटवाई। 

बताया जा रहा है कि बीजेपी नेताओं ने थाना प्रभारी को फोन कर लकी कुशवाह से माफी मांगने और उसका सम्मान करने के लिए कहा था। इसके बाद टीआई ने थाने के भीतर केक कटवाया। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें टीटी नगर थाना प्रभारी चार बदमाशों के साथ थाने के भीतर केक काटते देखे जा सकते हैं। इस दौरान लकी के साथ तीन और लोग भी मौजूद थे। लकी कुशवाह बीजेपी के यूथ इकाई BJYM का पदाधिकारी भी है।

यह भी पढ़ें: BJP विधायक के भांजे की रंगबाजी, बीच सड़क पर गोलियों की तड़तड़ाहट के साथ मनाया बर्थड़े

वीडियो में दिख रहे तीन अन्य लोगों का पहचान कुख्यात बदमाश हेमंत ठाकुर, ईशान उपाध्याय और भवानी है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक हेमंत ठाकुर सट्टा और जुए खिलवाने काम करता है। खास बात यह है कि इन चारों बदमाशों के खिलाफ कई थानों में गंभीर धाराओं में मुकदमे दर्ज हैं। मामले पर बवाल बढ़ने के बाद पुलिस अधीक्षक साईं कृष्ण थोटा ने कहा है कि टीआई के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

मामले पर यूथ कांग्रेस के मीडिया प्रभारी विवेक त्रिपाठी ने कहा है कि, 'मध्य प्रदेश पुलिस का आधिकारिक टैगलाइन 'देश भक्ति, जन सेवा' है। हालांकि, काम के आधार पर इसे बदलकर 'नेता भक्ति, बदमाश सेवा' कर देना चाहिए।' त्रिपाठी ने  कहा कि राजधानी में संगठित रूप से अपराध फल फूल रहा है और इस पूरे आपराधिक दुनिया के सरगना विश्वास सारंग है।

अपराध विभाग के HOD हैं विश्वास सारंग: कांग्रेस

त्रिपाठी ने कहा, 'ये सभी को पता है कि राजधानी में सट्टा, जुआ से लेकर नशीले पदार्थों की तस्करी में जो लोग संलिप्त हैं, उन्हें सारंग का संरक्षण प्राप्त है।' त्रिपाठी ने सारंग को अपराध विभाग का HOD करार देते हुए कहा कि वे गुंडे-बदमाशों के पूज्य हैं और अपराध की दुनिया में सबसे प्रतिष्ठित नाम हैं। त्रिपाठी ने पूछा कि जन्माष्टमी के मौके पर भोपाल जेल में जो कार्यक्रम हुए थे उसमें विश्वास सारंग क्यों गए थे? त्रिपाठी के मुताबिक जेल में बंद गुंडे-बदमाशों की भारी डिमांड पर जन्माष्टमी के आयोजन में सारंग को चीफ गेस्ट के रूप में भोपाल जेल बुलाया गया था। 

यह भी पढ़ें: VHP के धर्मांतरण से जुड़े अभियान को पुलिस का समर्थन, दिग्विजय सिंह बोले क्या ये संविधान के अनुकूल है

त्रिपाठी ने कहा कि जेल में उन्होंने अपने अपराधी शिष्यों से उनके कारनामों का ब्यौरा लिया और उन्हें अपराध के जरिए कमाई के नए तरीके भी बताए। त्रिपाठी का कहना है कि शांति के लिए मशहूर झीलों की नगरी भोपाल की आबोहवा खराब करने में विश्वास सारंग का सबसे बड़ा हाथ है। त्रिपाठी ने आगे कहा कि आज के दौर में जहां रोजगार की घोर कमी है, अपराध विभाग के HOD विश्वास सारंग अपने शिष्यों को अपराध की दुनिया में 100 फीसदी प्लेसमेंट देते हैं।