BJP विधायक के भांजे की रंगबाजी, बीच सड़क पर गोलियों की तड़तड़ाहट के साथ मनाया बर्थड़े

सिवनी-मालवा से बीजेपी विधायक प्रेम शंकर वर्मा के भांजे हैं राजेंद्र कुमार साध, गोलियों की तड़तड़ाहट के बीच तलवार से काटा बर्थडे केक, हाथ में पिस्टल और तलवार लेकर शूट कराया वीडियो

Updated: Sep 09, 2021, 03:41 PM IST

BJP विधायक के भांजे की रंगबाजी, बीच सड़क पर गोलियों की तड़तड़ाहट के साथ मनाया बर्थड़े

होशंगाबाद। मध्य प्रदेश के सिवनी-मालवा से बीजेपी विधायक के भांजे की रंगबाजी देखने को मिली है। विधायक के भांजे अपने जन्मदिन के मौके पर तलवार से केक काटते दिखे। यह कार्यक्रम घर में नहीं बल्कि बीच सड़क पर हो रहा था। खास बात यह है कि इस दौरान उनके समर्थक ताबड़तोड़ गोलियां चला रहे थे।

मामला सिवनी-मालवा के बनापुरा स्थित कुसुम कॉलेज के पास वाले मेन रोड का है। बुधवार 12 बजे के बाद यहां स्थानीय विधायक प्रेम शंकर शर्मा के भांजे राजेंद्र कुमार साध अपना जन्मदिन मनाने पहुंचे थे। साध विधायक प्रतिनिधि भी हैं। ऐसे में उनके साथ तकरीबन 40 की संख्या में समर्थक भी मौजूद थे।

यह भी पढ़ें: नाबालिग से गैंगरेप मामले में BJP जिलाध्यक्ष को बचा रही है पुलिस, कांग्रेस का गंभीर आरोप

रात के करीब 12.30 बजे सड़क के बीचोबीच टेबल पर 6 केक सजाया गया और साध को बैठने के लिए एक कुर्सी रखी गई। बाकी सभी लोग खड़े थे। चूंकि रात का समय था तो लाइट के लिए सामने दो चारपहिया वाहनों को खड़ा कर उनकी लाइट जलाई गई। इसके बावजूद समर्थकों को लगा कि रोशनी के लिए एक गाड़ी और होनी चाहिए थी। इसपर साध तुरंत बोलते हैं, अच्छा आने दो कोई गाड़ी वाले को रोक कर उसे भी खड़ा करवा देंगे। 

ताबड़तोड़ फायरिंग के साथ साध ने मूंछों पर ताव दिया और केक काटने के लिए तैयार हुए। उन्होंने तलवार से सभी केकों को काटा। इतना ही नहीं उन्होंने तलवार से ही समर्थकों को केक भी खिलाया। इसके बाद एक हाथ में तलवार और दूसरे में पिस्टल थामकर उन्होंने फोटो शूट कराया। खास बात ये है कि ये पूरा कार्यक्रम खुद साध ने अपने फेसबुक पेज पर लाइव भी किया था। साध के फेसबुक पेज पर अब भी यह पूरा वीडियो मौजूद है। इसमें स्पष्ट तौर पर हवाई फायरिंग देखी जा सकती है। हालांकि, पुलिस ने इसपर कोई कार्रवाई तो दूर घटना की जानकारी होने तक से इनकार कर दिया। बताया जा रहा है कि साध के कई बड़े मंत्रियों से करीबी संबंध हैं। ऐसे में पुलिस उनपर हाथ डालना नहीं चाहती।