मध्य प्रदेश में लगभग 1500 कौवों की मौत, 18 ज़िलों में बर्ड फ्लू की पुष्टि

Bird Flu In Madhya Pradesh: मध्य प्रदेश में अब तक 41 ज़िलों से आ चुकी हैं पक्षियों की मौत की खबरें, बढ़ रहा है बर्ड फ्लू का खतरा

Updated: Jan 13, 2021, 09:14 AM IST

मध्य प्रदेश में लगभग 1500 कौवों की मौत, 18 ज़िलों में बर्ड फ्लू की पुष्टि
Photo Courtesy: India Today

भोपाल। मध्य प्रदेश में बर्ड फ्लू (Bird Flu) का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है। राज्य में अब तक लगभग 1500 कौवों के मरने की खबरें आ चुकी हैं। अब तक प्रदेश के 41 ज़िलों से ऐसी खबरें आई हैं, जिनमें कुल 18 ज़िले ऐसे हैं जहां बर्ड फ्लू की पुष्टि हो चुकी है। लेकिन जिस तरह से अचानक पक्षियों के मरने की खबरें आ रही हैं, उससे मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में इस बीमारी का दायरा लगातार फैलता नज़र आ रहा है।

इंदौर, मंदसौर, आगर, नीमच, देवास, उज्जैन, खंडवा, खरगोन, गुना, शिवपुरी, राजगढ़, शाजापुर, विदिशा, भोपाल, होशंगाबाद, अशोकनगर, दतिया और बड़वानी में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। एक हिंदी अख़बार के मुताबिक दतिया ज़िले में एहतियातन धारा 144 लगा दी गई है। 

प्रदेश में बढ़ते बर्ड फ्लू (Bird Flu) को देखते हुए पशुपालन मंत्री प्रेम सिंह पटेल ने कहा है कि बर्ड फ्लू को रोकने के लिए राज्य सरकार हर संभव प्रयास कर रही है। पटेल ने कहा कि सोमवार को प्रधानमंत्री मोदी द्वारा दिए गए दिशानिर्देशों का पालन किया जा रहा है। जल स्त्रोतों, पक्षी स्थलों और चिड़ियाघरों की निगरानी रखी जा रही है। प्रेम सिंह पटेल ने कहा कि मृत पक्षियों के सैंपल तुरंत जमा करके भोपाल के NISHAD (National Institute Of High Security Animal Diseases) में भेजा जा रहा है।