सरपंच के 15 लाख तक के गबन को नहीं मानना चाहिए भ्रष्टाचार, बीजेपी सांसद जनार्दन मिश्रा के बोल

जनार्दन मिश्रा ने कहा कि सरपंच को पंद्रह लाख तक के भ्रष्टाचार की छूट होनी चाहिए, क्योंकि सात लाख लगाकर चुनाव जीतता है, सात लाख उसे अगले चुजाव के लिए चाहिए होते हैं, वहीं अगर महंगाई बढ़ गई तो एक लाख के भ्रष्टाचार की ओर छूट मिलनी चाहिए

Publish: Dec 28, 2021, 08:55 AM IST

सरपंच के 15 लाख तक के गबन को नहीं मानना चाहिए भ्रष्टाचार, बीजेपी सांसद जनार्दन मिश्रा के बोल

रीवा। अपने अटपटे बयानों के लिए अमूमन सुर्खियों में रहने वाले रीवा से बीजेपी के सांसद जनार्दन मिश्र एक बार फिर चर्चा का विषय बने हुए हैं। जनार्दन मिश्रा ने कहा है कि सरपंच को पंद्रह लाख तक का भ्रष्टाचार करने की छूट होनी चाहिए। क्योंकि वह चुनावों में भारी राशि खर्च कर चुनाव जीतता है। इतना ही नहीं अपनी बात को सिद्ध करने के लिए जनार्दन मिश्रा ने गणित भी सुझाया है। 

जनार्दन मिश्रा का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें वे लोगों को संबोधित करते हुए कह रहे हैं कि जब लोग हमारे पास सरपंच द्वारा किए गए भ्रष्टाचार की शिकायत लेकर मेरे पास आते हैं तो मैं कहता हूं कि अगर सरपंच ने पंद्रह लाख से कम का भ्रष्टाचार किया है तो बात मत करो। पंद्रह लाख से कम का भ्रष्टाचार नहीं माना जाएगा। 

यह भी पढ़ें : राष्ट्रवाद पर सवाल, आखिर क्यों देनी उमा भारती को सफाई

बीजेपी नेता ने यहीं नहीं रुके, उन्होंने अपने इस कथन को सिद्ध करने के लिए गणित भी सुझा दिया। बीजेपी नेता ने कहा कि पंद्रह लाख से कम का भ्रष्टाचार नहीं माना जाएगा। क्यों? क्योंकि सात लाख लगाकर तो वह चुनाव जीता है, सात लाख उसे अगले चुनाव के लिए चाहिए और तब तक महंगाई बढ़ गई तो एक लाख और जोड़ लो। हालांकि बीजेपी नेता ने अपने इस बयान पर तत्काल ही डैमेज कंट्रोल की कोशिश की और कहने लगे कि यही समाज की सच्चाई है, भ्रष्टाचार की कड़ी नीचे से ऊपर तक बनी हुई है। 

यह भी पढ़ें : पीएम मोदी के दाढ़ी फटकारने से झड़ते हैं लाखों आवास, बीजेपी सांसद का हास्यास्पद बयान

बीजेपी नेता जनार्दन मिश्रा अपने अटपटे बयानों को लेकर पहले भी सुर्खियों में रह चुके हैं। बीते महीने भी उनका एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वे प्रधानमंत्री मोदी की दाढ़ी पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि मोदी जी जब दाढ़ी झाड़ते हैं, तो पीएम आवास झड़ते हैं।