मध्य प्रदेश के हारे मंत्रियों को निगम मंडलों में जगह देने की तैयारी

मुख्यमंत्री शिवराज करेंगे चुनाव हारने वाले मंत्रियों को सरकारी पद देने पर अंतिम फैसला, एंदल सिंह कंसाना मंत्रीपद छोड़ चुके हैं, इमरती देवी और गिर्राज दंडोतिया ने अब तक इस्तीफा नहीं दिया है

Updated: Nov 19, 2020, 04:08 PM IST

मध्य प्रदेश के हारे मंत्रियों को निगम मंडलों में जगह देने की तैयारी
Photo Courtesy: India Today

भोपाल। मध्य प्रदेश उपचुनाव में मुंह की खाने वाले शिवराज सरकार के मंत्रियों के पुनर्वास की योजना बनाई जा रही है। ख़बर है कि इमरती देवी, गिर्राज दंडोतिया और एंदल सिंह कंसाना को निगम मंडलों में जगह देने के साथ ही कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया जा सकता है। हालांकि इस बारे में अंतिम फैसला शिवराज सिंह चौहान को लेना है, लेकिन उससे पहले पार्टी में इस पर चर्चा की जा सकती है।

मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया भी अपने हारे हुए समर्थकों को सरकारी व्यवस्था में जगह देने के पक्ष में हैं। प्राप्त जानकारी के अनुसार एंदल सिंह कंसाना ने मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है, जिसे राज्यपाल की मंजूरी के लिए भेज दिया गया है। जबकि इमरती देवी और गिर्राज दंडोतिया ने अब तक इस्तीफा नहीं दिया है। 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह दोनों ही मंत्री अपने पुनर्वास की व्यवस्था किए जाने पर अंतिम मुहर लगने का इंतजार कर रहे हैं। अंतिम मुहर लगने के बाद ही दोनों मंत्री इस्तीफा देंगे। वहीं उपचुनाव जीतने वाले मांधाता से नारायण पटेल और नेपानगर से सुमित्रा देवी कास्डेकर को भी निगम - मंडल या आयोगों में कहीं जगह दी जा सकती है।