CBI ने मिलिट्री इंजीनियर को 50000 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा

एक महिला ठेकेदार ने कैंटोनमेंट क्षेत्र में 84 लाख रुपए निर्माण कार्य का ठेका लिया था, जिसमें इंजीनियर द्वारा टेंडर का भुगतान करने की एवज मे 4.5 लाख रुपए की रिश्वत मांगी गई।

Updated: Jun 09, 2022, 12:07 PM IST

CBI ने मिलिट्री इंजीनियर को 50000 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा
Photo Courtesy: The Indian Express

ग्वालियर। CBI ACB की टीम ने मिलिट्री इंजीनियरिंग सेवा के गैरिसन इंजीनियर को 50000 रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों पकड़ा है। इंजीनियर का नाम धनंजय प्रसाद चतुर्वेदी है और वो मुरार कैंटोनमेंट स्थित ईएमआई शाखा, ग्वालियर में गैरिसन इंजीनियर के पद पर पदस्थ है।

दरअसल एक महिला ठेकेदार ने कैंटोनमेंट क्षेत्र में 84 लाख रुपए निर्माण कार्य का ठेका लिया था। जिसमें इंजीनियर द्वारा टेंडर का भुगतान करने की एवज मे 4.5 लाख रुपए की रिश्वत मांगी गई। जिसकी शिकायत महिला ठेकेदार के पति द्वारा सीबीआई भोपाल एसपी को की गई। CBI ACB भोपाल की टीम बुधवार को तड़के ग्वालियर पहुंची और शिकायतकर्ता को रिश्वत के 50000 रुपए लेकर इंजीनियर की पास भेजा। इसके बाद ही CBI वहां पहुंच गई और भ्रष्ट इंजीनियर को रंगे हाथों पकड़ा।

यह भी पढ़ें: केंद्रीय कैबिनेट की किसानों को बड़ी सौगात, खरीफ फसलों की MSP में बढ़ोतरी को मिली मंजूरी

इस कार्रवाई में CBI डीएसपी अतुल हजेला, इंस्पेक्टर सतीश बरवाल, विजय मेहरा, हिमांशु चौबे, सब इंस्पेक्टर सुभाष तोमर शामिल रहे। इससे पहले CBI भोपाल की टीम ने इटारसी में सीनियर डिविजनल मैकेनिकल इंजीनियर अजय ताम्रकार को 50000 रुपए की रिश्वत लेते पकड़ा था।