नवंबर से आदिवासी प्रखंडों में घर घर राशन पहुंचाएगी शिवराज सरकार, सीएम ने की घोषणा

मुख्यमंत्री ने जबलपुर में एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए यह घोषणा की, साथ ही यह भी कहा कि राशन वितरण के लिए आदिवासियों के स्वामित्व वाले वाहनों की मदद ली जाएगी

Publish: Sep 19, 2021, 09:19 AM IST

नवंबर से आदिवासी प्रखंडों में घर घर राशन पहुंचाएगी शिवराज सरकार, सीएम ने की घोषणा

जबलपुर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आदिवासियों को लेकर एक और घोषणा की है। सीएम ने एलान किया है कि उनकी सरकार अब प्रदेश के 89 प्रखंडों में घर-घर राशन पहुंचाने का काम करेगी। इसके लिए आदिवासियों के वाहन की सहायता ली जाएगी। 

मुख्यमंत्री ने यह घोषणा शनिवार को जबलपुर में आयोजित आदिवासियों को लेकर एक कार्यक्रम में की। सीएम ने घोषणा करते हुए कहा कि उनकी सरकार एक नवंबर से प्रदेश के 89 आदिवासी प्रखंडों में घर-घर राशन पहुंचाने का काम करेगी। एक नवंबर को मध्य प्रदेश दिवस भी होता है। सीएम ने कहा कि आदिवासियों को अब अपना काम छोड़कर राशन के लिए दुकानों पर नहीं जाना पड़ेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस व्यवस्था के लिए आदिवासियों के स्वामित्व वाले वाहनों की मदद ली जाएगी। 

सीएम की इस घोषणा पर पीसीसी चीफ कमल नाथ ने पलटवार किया है। कमल नाथ ने मुख्यमंत्री पर वोटों के लिए आदिवासियों को भ्रमित करने का आरोप लगाया है। कमल नाथ ने कहा है कि शिवराज आदिवासियों के लिए कोरी घोषणाएं करने के अलावा और कुछ नहीं कर रहे।बीजेपी को चुनावी समय में ही आदिवासी वर्ग की याद आती है। 

कमल नाथ ने यह भी कहा कि सीएम को कार्यक्रम में आदिवासियों से माफी मांगनी चाहिए थी। पूर्व सीएम ने कहा कि प्रदेश में आदिवासियों के उत्पीड़न की रिपोर्ट पर मुख्यमंत्री को आदिवासी वर्ग से माफी मांगनी चाहिए थी, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। कांग्रेस नेता ने कहा कि जब से प्रदेश में बीजेपी की सरकार आई है, तब से आदिवासियों पर अत्याचार के मामले बढ़ गए हैं।