तुम्हारी किस्मत फूटी है कमलनाथ कहकर कांग्रेस के निशाने पर आए शिवराज, लुच्चों की भाषा से हुई तुलना

चुनाव प्रचार के दौरान सीएम शिवराज ने पूर्व सीएम कमलनाथ के लिए किया अमर्यादित भाषा का प्रयोग, कांग्रेस बोली- यह सीएम की भाषा नहीं हो सकती, हार की बौखलाहट में शिवराज लुच्चों-लफंगों की भाषा पर उतर आए हैं

Updated: Oct 21, 2021, 08:50 PM IST

तुम्हारी किस्मत फूटी है कमलनाथ कहकर कांग्रेस के निशाने पर आए शिवराज, लुच्चों की भाषा से हुई तुलना
Photo Courtesy: Twitter

खंडवा। मध्य प्रदेश में उपचुनाव की तारीख ज्यों-ज्यों नजदीक आ रही है, नेताओं की बदजुबानी बढ़ती जा रही है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज खंडवा में चुनाव प्रचार के दौरान पूर्व सीएम कमलनाथ के लिए निम्नस्तरीय भाषा का प्रयोग किया। सीएम ने यहां मुंह चिढ़ाते हुए कहा कि तुम्हारी किस्मत फूटी है कमलनाथ। कांग्रेस ने इसकी निंदा करते हुए कहा है कि हार की बौखलाहट में शिवराज लुच्चों-लफंगों की भाषा पर उतर आए हैं।

दरअसल, सीएम शिवराज ने आज खंडवा में धुंआधार रैलियां की। इस दौरान पंधाना विधानसभा के छैगांव माखन में जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम ने पीसीसी चीफ कमलनाथ के खिलाफ अनेक अमार्यदित शब्दों का प्रयोग किया। सीएम बोले, 'कमलनाथ ने मुझे एक्टर कहा मैं एक्टर और मोदी जी डायरेक्टर... वाह रे कमलनाथ जब तुम्हारी सरकार थी तब तुमने क्या किया?' 

सीएम यहीं नहीं रुके उन्होंने यहां तक कहा कि तुम्हारी किस्मत फूटी है कमलनाथ। सीएम बोले, 'वाह रे कमलनाथ ये तेरे चुनाव के भाषण हैं रे... कहते हैं मामा जेब में नारियल लेकर घूमता है। तुम्हारी किस्मत ही फूटी थी तो मामा क्या करे। हम तो नारियल फोड़ेंगे। और फोड़ेंगे दनादन फोड़ेंगे। ये रोते रहते थे पैसा नहीं है... पैसा नहीं है। काहे बन गए थे सीएम। ये रौतेला मुख्यमंत्री अच्छा लगता है क्या?' हैरानी की बात है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री होकर शिवराज सिंह चौहान इस दौरान मुंह भी चिढ़ाते रहे।

लुच्चों की भाषा पर उतर आए सीएम: कांग्रेस

कांग्रेस ने सीएम की इस अमर्यादित भाषा को लेकर तल्ख टिप्पणी की है। मध्य प्रदेश यूथ कांग्रेस के मीडिया प्रभारी विवेक त्रिपाठी ने कहा, 'मुख्यमंत्री जी ने आज जिस भाषा का प्रयोग किया है वह शर्मनाक है। यह लुच्चों, लफंगों और मवालियों की भाषा है। मुख्यमंत्री की ये भाषा नहीं हो सकती। शायद शिवराज उपचुनाव में हार की बौखलाहट से लुच्चों की भाषा पर उतर गए हैं। कांग्रेस के संस्कार ऐसे नहीं हैं कि हम उम्र में खुद से बड़े लोगों के लिए इस तरह के संबोधन इस्तेमाल करें।'

यह भी पढ़ें: किसानों के लिए मुआवजा मांगना कांग्रेस MLA को पड़ा भारी, सरकार गंभीर धाराओं के तहत करेगी कार्रवाई

त्रिपाठी ने आगे कहा कि, 'भारत देश में अबतक दो अनैतिक मामा हुए। एक थे कंस और एक थे शकुनी। ये तीसरे मामा का आचरण तो उन दोनों से भी भ्रष्ट है। लेकिन हम शिवराज के लिए तू-तड़ाक और अपशब्द का इस्तेमाल नहीं करेंगे। लेकिन जनता इस पनौती मुख्यमंत्री को उन्हीं की भाषा में वोट की चोट से जवाब जरूर देगी।'