अब मोबाइल पर मिलेगा खसरा, खतौनी और नक्शा, सीएम शिवराज ने लॉन्च की स्कीम

मध्य प्रदेश में सुशासन के क्षेत्र में अच्छा काम करने वाले कर्मचारियों का हुआ सम्मान, मुख्यमंत्री की जन प्रतिनिधियों और अफसरों से सरकारी सेवाओं की सख्ती से मॉनिटरिंग की अपील

Updated: Jan 25, 2021, 04:32 PM IST

अब मोबाइल पर मिलेगा खसरा, खतौनी और नक्शा, सीएम शिवराज ने लॉन्च की स्कीम
Photo Courtesy: twitter

भोपाल। मध्यप्रदेश में CM हेल्प लाइन 181 में एक और सुविधा जोड़ दी गई है। अब इस हेल्प लाइन की मदद से लोगों को मोबाइल पर ही उनके भूलेखों की जानकारी मिल सकेगी। जमीनों का खसरा, खतौनी और नक्शा उपलब्ध हो सकेगा। मोबाइल पर खसरा खतौनी की जानकारी के लिए किसानों का आधार नंबर और मोबाइल नंबर रजिस्टर होना जरूरी है। दोनों नंबरों का रजिस्ट्रेशन होने के बाद 181 पर फोन करके  B1, खसरा, खतौनी और नक़्शे से जुड़े दस्तावेज रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर हासिल किए जा सकेंगे।

 

दरअसल लोकसेवा गारंटी कानून के दस साल पूरे हो गए हैं। इस मौके पर प्रदेश में अच्छा काम करने वाले कर्मचारियों का सम्मान किया गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने सुशासन के क्षेत्र में सराहनीय काम करने के लिए कर्मचारियों और अफसरों को सम्मानित किया। वहीं काम नहीं करने वालों को चेतावनी दी कि जो अधिकारी-कर्मचारी ईमानदारी से अच्छा काम करेंगे, उन्हें इनाम दिया जाएगा, जो काम नहीं करेंगे, वे भोगेंगे।

 

इस मौके पर सीएम शिवराज सिंह ने जनप्रतिनिधियों और अफसरों से सरकारी सेवाओं की सख्ती से मॉनिटरिंग करने की अपील की है। उन्होंने अफसरों से कहा है कि समय सीमा में उपलब्ध होने वाली सुविधाओं पर कड़ाई से नजर रखें, इनमें किसी तरह की गड़बड़ी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। CM हेल्प लाइन 181 के जरिए फोन पर ही सेवा मिलेगी, अब आने जाने का चक्कर खत्म होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि  CM डैशबोर्ड पर हेल्पलाइन से जुड़ी सभी जानकारी उनके सामने रहेंगी। हर योजना की मॉनिटरिंग हो रही है। प्रदेश सरकार जनता को कंप्यूटर से सरकारी सेवाएं और सुविधाएं आसानी से उपलब्ध करवाने के लिए प्रतिबद्ध है। सरकारी सिस्टम में टेक्नॉलाजी का उपयोग प्रदेश की जनता की सुविधाएं बढ़ाने के लिए किया जाएगा।