दिवाली से पहले बिजली का झटका, MP में 10 पैसे प्रति यूनिट महंगी हुई बिजली

200 यूनिट तक बिजली खपत होने पर 22 रुपए ज्यादा चुकाने होंगे, कोयला ट्रांसपोर्टेशन के नाम पर हुई 10 पैसे प्रति यूनिट की बढ़ोतरी

Updated: Oct 01, 2022, 06:35 PM IST

दिवाली से पहले बिजली का झटका, MP में 10 पैसे प्रति यूनिट महंगी हुई बिजली

भोपाल। मध्य प्रदेश में बिजली उपभोक्ताओं को दिवाली से पहले 'महंगी बिजली' का झटका लगा है। दरअसल, FCA (फ्यूल काॅस्ट एडजस्टमेंट) में 10 पैसे की बढ़ोतरी की गई है। इसके बाद अब उपभोक्ताओं को प्रति यूनिट 10 पैसे की बजाय 20 पैसे FCA देना होगा। बढ़ी हुई दरें 1 अक्टूबर से लागू हो जाएंगी। 

हालांकि 100 यूनिट तक बिजली की खपत करने वालों फिलहाल 100 रुपए ही देने होंगे। क्योंकि इसकी भरपाई सरकार बिजली कंपनियों को सब्सिडी देकर करती है। यदि आपके यहां 200 यूनिट तक बिजली खपत होती है, तो अक्टूबर महीने से 22 रुपए ज्यादा चुकाने होंगे।

यह भी पढ़ें: भारत में 5G युग की शुरुआत: इंडिया मोबाइल कांग्रेस में पीएम मोदी ने लॉन्च की 5G सेवा

पावर मैनेजमेंट कंपनी की प्रभारी CGM शैलेंद्र सक्सेना के मुताबिक हर तीन महीने में बिजली कंपनियां फ्यूल काॅस्ट का निर्धारण नियामक आयोग से कराती हैं। बिजली बनाने में कोयला परिवहन और फ्यूल की कीमतों के आधार पर FCA की दर निर्धारित होती है। कंपनियां बिजली दरों के अलावा उपभोक्ताओं से FCA चार्ज भी वसूलती हैं।

बिजली कंपनियों ने एक साल में FCA में 37 पैसे की बढ़ोतरी कर दी। साल भर पहले कंपनियां माइनस 17 पैसे फ्यूल काॅस्ट वसूल रही थीं। अब ये 20 पैसे प्रति यूनिट है। रिटायर्ड मुख्य अभियंता राजेंद्र अग्रवाल ने इसे धोखा बताता है। उन्होंने कहा कि बिजली कंपनी ने बिना सूचना के फ्यूल चार्ज बढ़ा दिए हैं। ये एक तरह से उपभोक्ताओं से धोखा है। बिजली कंपनियां उपभोक्ताओं पर भार लाद रही हैं।