पिता ने कुल्हाड़ी से काटा बेटे का हाथ, कटा हाथ लेकर पुलिस चौकी पहुंचा, युवक की मौत

दमोह के पथरिया थाना क्षेत्र अंतर्गत बोबई गांव की घटना, पिता ने कुल्हाड़ी से काटा पुत्र का हाथ, पुलिस चौकी में ही हाथ छोड़कर अस्पताल चले गए पुलिसकर्मी, हाथ आने में देरी से हुई युवक की मौत

Updated: Aug 05, 2022, 07:16 PM IST

पिता ने कुल्हाड़ी से काटा बेटे का हाथ, कटा हाथ लेकर पुलिस चौकी पहुंचा, युवक की मौत

दमोह। मध्य प्रदेश के दमोह से एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। यहां एक पिता ने अपने जवान बेटे का कुल्हाड़ी से हाथ काट दिया। इतना ही नहीं कटा हाथ लेकर खुद पुलिस चौकी भी चला गया। इधर पुलिसकर्मी उस कटे हाथ को चौकी में ही छोड़कर अस्पताल चले गए। हाथ आने में हुई देरी के कारण युवक की मौत हो गई।

मामला दमोह के पथरिया थाना क्षेत्र अंतर्गत बोबई गांव का है। बताया जा रहा है कि बाइक की चाबी को लेकर पिता और पुत्र में झगड़ा हुआ था। बताया जा रहा है कि आरोपी पिता मोती पटेल ने अपने छोटे बेटे के साथ मिलकर 30 वर्षीय संतोष की बेरहमी से पिटाई की। बीच बचाव में बहु आई तो उसे भी लाठी से मारकर भगा दिया।

आरोपी पिता ने पहले छोटे बेटे के साथ मिलकर उसे अधमरा होने तक लाठी-डंडों से पीटा, फिर लकड़ी के पटे पर हाथ रखकर कुल्हाड़ी से ऐसा वार किया कि हाथ कट कर दूर जा गिरा। पिता का गुस्सा यहीं शांत नहीं हुआ, उसने तड़प रहे बेटे को वहीं छोड़ा और कटा हाथ उठाकर, कंधे पर कुल्हाड़ी रखकर 5 किमी दूर चौकी पहुंच गया। यहां पहुंचकर उसने सरेंडर कर दिया।

इस मामले में पुलिस की तरफ से भी एक बड़ी लापरवाही हुई। पुलिस जब घायल संतोष को लेकर अस्पताल पहुंची, तो उसका कटा हाथ चौकी पर ही भूल आई। डॉक्टर का कहना था कि यदि कटा हाथ जल्दी अस्पताल लाया जाता तो उसे जोड़ा जा सकता था। बताया जा रहा है कि मृतक युवक की 10 साल पहले शादी हुई थी और उसके दो छोटे बेटे रुद्राक्ष और दो भी हैं।