इंदौर में रेत का डंपर पलटा, दबने से मौत पिता पुत्र की मौत

इंदौर में रेत का डंपर खाली करते समय पलट गया, जिसकी चपेट में आने से ठेकेदार और उसका 12 साल का बच्चा रेत में दब गए, बड़ी मशक्कत से शवों को बाहर निकाला, डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया

Updated: Jul 27, 2021, 09:21 PM IST

इंदौर में रेत का डंपर पलटा, दबने से मौत पिता पुत्र की मौत
Photo Courtesy: bhopal samachar

इंदौर। शहर के रेसीडेंसी इलाके में मातम का माहौल है। मोहल्ले का हर शख्स गमजदा है। यहां के एक घर से पिता-पुत्र की अर्थी एक साथ निकली है। यह गमगीन नजारा जिसने भी देखा उसके आंसू छलक पड़े। एक महिला जिसका सुहाग और गोद दोनों उजड़ गए। महिला का रो-रोकर बुरा हाल है। दरअसल शुक्रवार सुबह ठेकेदार अपनी साइट पर जा रहा था, बेटा भी उसके साथ जिद करके चला गया। निर्माणाधीन साइट पर रेत का डंपर खाली किया जा रहा था, तभी डंपर का एक पहिया सीवेज चेंबर में फंस गया औऱ वह बेकाबू होकर पलट गया। देखते ही देखते बाप-बेटे उसकी चपेट में आ गए और रेत में दफन हो गए। वहां मौजूद लोग कुछ कर पाते उससे पहले ही दोनों की सांसें थम गई।

वहां मौजूद लोगों ने जेसीबी की मदद से रेत हटाई और दोनों को किसी कदर निकाला। तब तक घंटे का वक्त बीत चुका था। प्रत्यक्षदर्शियों की सूचना पर संयोगितागंज थाना पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों को एंबुलेंस की मदद से एमवाय अस्पताल ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया। 

मृतक ठेकेदार का नाम गोपाल पवार था। उसके 12 वर्षीय बेटे का नाम गोलू था। सुबह घर से निकलते वक्त गोपाल ने कहा था कि मेरी पंसद का खाना बनाकर रखना लंच में खाना खाने घर आउंगा। बेटा खेलने की जिद करते हुए पिता के साथ गया था। पति और बच्चे की मौत से पत्नी का रो-रोकर बुरा हाल है। उसे सदमा लग गया है, वह बार-बार दोहरा रही है कि उसके पति गोपाल ने कहा था कि वह दोपहर का खाना उसके साथ घर पर खाएगा। संयोगितागंज थाना पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम करवा कर शव परिजनों को सौंप दिया है। केस दर्ज कर मामले की जांच जारी है।