पहले डॉमिनोज पर करो कार्रवाई... गरीब पोहे वाले का चालान काट रहे अधिकारियों पर भड़के कांग्रेस MLA

गरीब खुद को कोरोना से बचाए या परिवार को भूख से बचाए, पोहा नहीं बिकती तो भूख से तड़पते रहते बच्चे, कांग्रेस विधायक ने कार्रवाई कर रहे नगर निगम कर्मियों को लगाई फटकार

Updated: Apr 11, 2021, 06:29 PM IST

पहले डॉमिनोज पर करो कार्रवाई... गरीब पोहे वाले का चालान काट रहे अधिकारियों पर भड़के कांग्रेस MLA

ग्वालियर। मध्यप्रदेश में बेतहाशा बढ़ रहे कोरोना के मामलों के बीच वीकेंड लॉकडाउन लागू है। लॉकडाउन के दौरान खाने-पीने से जुड़ी चीजों को बेचने पर भी प्रतिबंध है। इससे छोटे दुकानदारों और ठेलेवालों के सामने यह चुनौती उत्पन्न हो गई है कि घर में रहकर वे खुद को कोरोना से बचाएं या सामान बेचकर परिजनों को भूख से बचाएं। ऐसा ही एक मामला ग्वालियर में सामने आया है जहां कांग्रेस विधायक नगर निगम अमले से एक गरीब पोहेवाले के लिए भीड़ गए।

जानकारी के मुताबिक ग्वालियर दक्षिण विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत रॉक्सी पुल के पास सोनी अग्रवाल पोहा जलेबी बेचकर अपने परिवार का पेट पालते हैं। शनिवार और रविवार को लॉकडाउन की वजह से उनके सामने दो वक्त के रोटी तक की संकट आ गई। उन्होंने कुछ रुपए कमाने के लिए लॉकडाउन के दौरान घर में थोड़े पोहे और जलेबी बनाई। उन्होंने पोहे जलेबी बनाकर उसे पार्सल करने का काम शुरू किया ही था की नगर निगम के अधिकारियों को इस बात की सूचना मिली।

नगर-निगम के अधिकारी सोनू के घर गए और घर से निकालकर सारे पोहे और जलेबी सड़क पर फेंक दिया। इतना ही नहीं नगर निगम के आदेश पर कुछ लोग आए और उनसे चालान कटवाने को कहा। सोनू के घर में चालान के भी पैसे नहीं थे, इसके बाद अधिकारी उनका सामान और ठेला ले जाने लगे। कमाई की एकमात्र जरिया को ऐसे खत्म होता देख सोनू अंदर से टूट चुके थे। आसपास के लोगों ने इस बात की जानकारी स्थानीय कांग्रेस विधायक प्रवीण पाठक को दी तो वे तत्काल सोनू के घर पहुंचे। 

प्रवीण में हम समवेत को बताया कि इस दौरान निगम के कर्मचारी वहां से उनका सामान ले जाने की तैयारी कर रहे थे और सोनू वहीं पास में रुंआसा होकर खड़े थे। विधायक से यह देखा नहीं गया और उन्होंने निगम कर्मचारियों को फटकार लगाते हुए कहा कि मेरे रहते इस गरीब के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं करेगा। नगर निगम के लोगों से बातचीत करते हुए प्रवीण पाठक का एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें देखा जा सकता है की वे निगम कर्मचारियों को खरी खोटी सुना रहे हैं। प्रवीण ने उन्हें कहा कि यदि कार्रवाई करनी है तो पहले डॉमिनोज और मैकडोनाल्ड जैसे संस्थानों पर करो बाद में गरीबों पर करना।

प्रवीण को गुस्सा होता देख निगम कर्मचारी वहां से भाग खड़े हुए। इस बारे में हम समवेत से बातचीत के दौरान कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि डॉमिनोज और मैकडोनाल्ड जैसी कंपनियों पर कोई रोक नहीं है और वे धड़ल्ले से खाद्य सामग्री बेच रहे हैं। लेकिन यदि गरीब पेट भरने के लिए थोड़ा काम करना चाहता है तो ये गरीब विरोधी शिवराज सरकार और उनके अधिकारी गरीबों के पेट पर लात मारने का कोई मौका नहीं छोड़ते। प्रवीण ने कहा कि मेरे खिलाफ भले प्रशासन कोई भी कार्रवाई कर ले लेकिन जबतक मैं हूं मेरे क्षेत्र के गरीबों पर कोई आंख नहीं उठा सकता।