Hemant Katare: मेहगांव में हुई लोकतंत्र की हत्या, कांग्रेस प्रत्याशी हेमंत कटारे का आरोप

मेहगांव उपचुनाव: कांग्रेस प्रत्याशी हेमंत कटारे ने निर्वाचन आयोग पर लगाया पक्षपात करने का आरोप, मेहगांव में चुनाव के दौरान बूथ पर खुलेआम तोड़ी गई EVM

Updated: Nov 06, 2020, 05:32 AM IST

Hemant Katare: मेहगांव में हुई लोकतंत्र की हत्या, कांग्रेस प्रत्याशी हेमंत कटारे का आरोप
Photo Courtesy: Zeenews

मेहगांव। मध्यप्रदेश में उपचुनाव में मतदान खत्म होने के बाद कांग्रेस नेता हेमंत कटारे ने चुनाव आयोग पर गंभीर आरोप लगाया है। मेहगांव विधानसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी कटारे ने चुनाव आयोग की निष्पक्षता पर सवाल खड़ा किया है। कटारे ने आरोप लगाया है कि उपचुनाव के दौरान निर्वाचन आयोग का कामकाज निष्पक्ष नहीं था और वोटिंग के दौरान लोकतांत्रिक मूल्यों की हत्या की गई।

हेमंत कटारे ने कहा है कि मेहगांव के सोंधा पोलिंग बूथ पर फायरिंग की घटना की जानकारी मिलने के आधे घंटे बाद पुलिस-प्रशासन वहां पहुंचा। उन्होंने आरोप लगाया है कि बीजेपी के लोगों ने पहले तो सोंधी में फायरिंग कर मतदान को प्रभावित करने की कोशिश की, उसके बाद लिलोई गांव में उन्हीं लोगों ने ईवीएम तोड़ डाली। बीजेपी प्रत्याशी के गुंडे लोगों को धमकाते रहे और प्रशासन मूकदर्शक बना रहा।

चुनाव आयोग ने बीजेपी के इशारे पर काम किया: कटारे

कांग्रेस नेता ने चुनाव आयोग पर बीजेपी के इशारे में काम करने का गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने कहा, 'मंत्री व बीजेपी प्रत्याशी ओपीएस भदौरिया के समय के टीआई और एसआई की पोस्टिंग के कारण गुंडों को छूट दी गई। मतदान केंद्रों पर जमकर नंगा नाच की गई और लोकतंत्र की हत्या हुई। तमाम शिकायतों के बाद भी अबतक कार्रवाई नहीं हुई क्योंकि बीजेपी सरकार का दबाव है और वह बीजेपी के दबाव में काम कर रहे हैं।'

वोटिंग के दौरान मेहगांव में हुई कई गड़बड़ियां

बता दें कि मेहगांव में वोटिंग शुरू होने के बाद सुबह से ही लगातार गड़बड़ियों की खबरें आ रही थी। उपचुनाव शुरू होने के तुरंत बाद मेहगांव के बीजेपी प्रत्याशी ओपीएस भदौरिया पुलिस को धमकी देते देखे गए थे, जिसका वीडियो वायरल हो रहा था। साथ ही मेहगांव के इंदिरानगर कॉलोनी स्थित पोलिंग बूथ पर पीठासीन अधिकारीयों द्वारा मतदाताओं की उंगली पर स्याही नहीं लगाई जा रही थी, वहीं पूछने पर अधिकारियों का कहना था कि गलती से छूट गया होगा।

इसके बाद मेहगांव के सोंधा व पचेरा गांव में बूथ पर गोलीबारी की घटना हुई। वहीं लिलोई गांव में तो अपराधियों ने बूथ पर जाकर ईवीएम को ही तोड़ दिया। विधानसभा क्षेत्र में इन घटनाओं का असर वोटिंग परसेंटेज पर भी पड़ा है। मेहगांव में कुल 61.18 फीसदी ही मतदान हुए हैं। इस विधानसभा सीट पर बीजेपी प्रत्याशी ओपीएस भदौरिया और कांग्रेस के हेमंत कटारे के बीच कांटे की टक्कर है।