झाबुआ में पति के सामने बीच सड़क पर महिला को किया निर्वस्त्र, मारपीट की और उठाकर ले गए

मध्य प्रदेश के झाबुआ में मानवता को शर्मसार करने वाला मामला, 5 लोगों ने बीच सड़क पर महिला को निर्वस्त्र कर पीटा, वीडियो वायरल होने के बाद हरकत में आई पुलिस, आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर हिरासत में लिया

Updated: Aug 11, 2022, 08:03 PM IST

झाबुआ में पति के सामने बीच सड़क पर महिला को किया निर्वस्त्र, मारपीट की और उठाकर ले गए

झाबुआ। मध्य प्रदेश के झाबुआ जिले से मानवता को शर्मसार करने वाला एक मामला सामने आया है। यहां दबंगों ने बीच सड़क पर एक महिला को निर्वस्त्र कर दिया। इस दौरान उसका पति और गांव के कई लोग वहां मौजूद थे। इसके उन्होंने बाद महिला और उसके पति की बेरहमी से पिटाई की और नग्न हालत में ही महिला को उठाकर ले गए।

घटना झाबुआ जिले के रायपुरिया पुलिस थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत जामली के रूपारेल गांव की है। रिपोर्ट्स के मुताबिक पीड़िता की रूपारेल निवासी मजरूह मेहरबान से शादी हुई थी। हालांकि, आठ माह पहले वह मुकेश कटारा नाम के एक युवक के पास चली गई थी। बुधवार शाम वह वापस अपने पति के पास आ गई। इसी बात से गुस्सा होकर मुकेश चार बदमाशों को लेकर रूपारेल गांव पहुंचा।

यह भी पढ़ें: MP: जेल में बंद भाइयों को भी राखी बांध सकेंगी बहनें, इंदौर-रतलाम में हंगामे के बाद गृहमंत्री ने जारी किए आदेश

मुकेश और उसके साथियों ने गांव में आकर बीच सड़क पर महिला को निर्वस्त्र कर दिया। इसके बाद महिला और उसके पति के साथ मारपीट शुरू कर दी। हैरानी की बात ये है कि मौके पर कई लोग मौजूद थे, लेकिन वे महिला की आबरू बचाने के बजाए वीडियो बनाते रहे। इसी बीच किसी ने डायल 100 पर कॉल के माध्यम से पुलिस को घटना की जानकारी दे दी।

पुलिस जबतक मौके पर पहुंचती आरोपीगण महिला को जबरन बाइक पर बिठाकर अपने साथ ले जा चुके थे। घटना का वीडियो सामने आने के बाद पुलिस के आला अधिकारी हरकत में आए। पुलिस ने आरोपियों के पास से महिला को रेस्क्यू किया साथ ही मुकेश और उसके तीन साथी को गिरफ्तार कर लिया।
 
झाबुआ के एडिशनल एसपी प्रेमलाल कुर्के ने बताया कि पीड़ित महिला एवं उसके पति को हॉस्पिटल में भेज दिया गया है, जहां उनका उपचार किया जा रहा है। उनके बयानों के आधार पर ही पूरी घटना का खुलासा होगा। घटना को अंजाम देने वाले 4 आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 147, 148, 149, 323, 294, 506, 364, 354 के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है। इस पूरे मामले में कानून व्यवस्था को लेकर भी गंभीर सवाल खड़े हो रहे हैं।