138 पहियों वाले ट्रॉले के वजन से टूटा 157 साल पुराना पुल, भोपाल-नागपुर हाइवे पूरी तरह बंद

भोपाल-नागपुर नेशनल हाईवे-69 पर सुखतवा नदी पर बना अंग्रेजों के जमाने का पुल भरभराकर गिर पड़ा, यह पुल उस समय टूटा, जब उसके ऊपर से भारी भरकम सामान लेकर 138 पहियों वाला ट्रॉला गुजर रहा था

Updated: Apr 11, 2022, 11:34 AM IST

138 पहियों वाले ट्रॉले के वजन से टूटा 157 साल पुराना पुल, भोपाल-नागपुर हाइवे पूरी तरह बंद

नर्मदापुरम। मध्य प्रदेश के नर्मदापुरम में रविवार को एक बड़ा हादसा हो गया। यहां भोपाल-नागपुर नेशनल हाईवे-69 पर सुखतवा नदी पर बना अंग्रेजों के जमाने का पुल भरभराकर गिर पड़ा। जानकारी के मुताबिक पुल उस समय टूटा, जब उसके ऊपर से भारी भरकम सामान लेकर 138 पहियों वाला ट्रॉला गुजर रहा था।

इस हादसे में ट्रॉला भी सामान सहित पुल के नीचे गिर गया। ट्रॉला इतना भारी था कि उसके वजन से करीब 157 साल पुराना यह पुल पलभर में जमीदोज हो गया। करीब 25 फीट ऊंचा और 51 मीटर लंबा यह पुल सन 1865 में बना था। ट्रॉले के वजन से पुल का 22 मीटर हिस्सा नीचे गिर गया। इस हादसे के बाद भोपाल-नागपुर हाइवे पूरी तरह से ठप हो गया है। 

पुल टूटने की खबर आने के बाद मौके पर बड़ी संख्या में भीड़ जमा हो गई थी। इस पुल से हर दिन लगभग 5 हजार से अधिक वाहन गुजरते थे। हादसे के बाद हाईवे बंद हो गया और दोनों तरफ वाहनों की लंबी कतारें लग गईं। जिसे देखते हुए यहां से गुजरने वाले ट्रैफिक को नर्मदापुरम प्रशासन ने दूसरे रास्ते से डायवर्ट कर दिया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक ट्रॉले पर रखी हैवी मशीन 20 फीट चौड़ी और 17 फीट ऊंची थी। इस मशीन को तोशिबा कंपनी ने बनाया है। मशीन का वजह 120 टीन से ज्यादा है। इस ट्राले में 16 एक्सल और 128 टायर हैं, जबकि, इसे खींचने वाले आगे के पार्ट में 10 टायर फिट हैं। यह ट्रॉला इटारसी पावर ग्रिड जा रहा था। 

बताया जा रहा है कि हैदराबाद से इटारसी के लिए यह ट्रॉला 6 मार्च को निकला था। लेकिन रास्ते मे खराब होने के कारण यह 4 दिन तक बैतूल में सातमऊ स्टाप के पास हाईवे किनारे खड़ा रहा। इसे सुधारने के लिए इंजीनियर बुलाए गए थे। ट्रॉला रविवार को बैतूल से इटारसी जाने के लिए फिर रवाना हुआ था, लेकिन सुखतवा पुल पर हादसे का शिकार हो गया। ट्रॉले में ड्राइवर समेत 4 लोग थे जो घायल हैं।