चयनित शिक्षकों के फोन टैप कर रही है एमपी पुलिस, दे रही है धमकी, रिपोर्ट में दावा

हिंदी के अखबार ने रिपोर्ट में किया दावा, चयनित शिक्षकों और उनसे जुड़े हुए लोगों को फोन कर धमका रही है एमपी पुलिस, प्रदर्शन करने पर करियर बर्बाद करने की दे रही है धमकी

Updated: Aug 27, 2021, 11:48 AM IST

चयनित शिक्षकों के फोन टैप कर रही है एमपी पुलिस, दे रही है धमकी, रिपोर्ट में दावा
प्रतीकात्मक तस्वीर

भोपाल। चयनित शिक्षकों की नियुक्ति से जुड़े विरोध प्रदर्शन के मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। हिंदी के एक प्रमुख अख़बार ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया है कि मध्य प्रदेश पुलिस चयनित शिक्षकों के फोन टैप कर रही है। इतना ही नहीं उन्हें फोन कर दोबारा प्रदर्शन नहीं करने की धमकी दे रही है। 

रिपोर्ट के मुताबिक एमपी पुलिस चयनित शिक्षकों और उनसे जुड़े लोगों को धमकी दे रही है कि अगर उन्होंने दोबारा प्रदर्शन किया तो उनका करियर बर्बाद कर दिया जाएगा। रिपोर्ट के मुताबिक अब तक चयनित शिक्षकों और उनसे जुड़े हुए करीब आठ हजार लोगों को एमपी पुलिस के द्वारा धमकी दी जा चुकी है। 

रिपोर्ट के अनुसार एमपी पुलिस की ओर से हाल ही में एक महिला को फोन भी गया था। एमपी पुलिस ने महिला से पूछा था कि तुम्हारा पति भी 18 अगस्त को भोपाल में प्रदर्शन में शामिल हुआ था। इस पर महिला ने कहा कि उसके पति की कोरोना के कारण मौत हो चुकी है। 

रिपोर्ट में एक चयनित शिक्षक के हवाले से यह दावा किया गया है कि एमपी पुलिस चयनित शिक्षकों और उनसे जुड़े हुए लोगों को लगातार फोन कर दोबारा प्रदर्शन नहीं करने की धमकी दे रही है। फोन टैप कर चयनित शिक्षकों से जुड़े लोगों तक पहुंचा जा रहा है, और उन्हें चयनित शिक्षकों से बात न करने की धमकी दी जा रही है।

दरअसल बीते 18 अगस्त को बड़ी संख्या में चयनित शिक्षक अपनी नियुक्ति को लेकर भोपाल में प्रदर्शन में शामिल हुए थे। महिला चयनित शिक्षिकाओं ने सीएम से राखी गिफ्ट पाने के लिए बीजेपी कार्यालय का घेराव किया था। वहीं चयनित शिक्षकों पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया था। अब दावा किया जा रहा है कि शिक्षकों को दोबारा प्रदर्शन करने से रोकने के लिए उनकी फोन टैपिंग शुरू हो गई है, और उन्हें धमकी भी दी जा रही है।