राज्यपाल के अभिभाषण में शिवराज सरकार की उपलब्धियों का बखान, कोरोना काल में बेहतरीन कामकाज का दावा

मध्य प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने कहा, महिला सुरक्षा, स्वास्थ्य, सड़क के क्षेत्र में उल्लेखनीय काम कर रही है शिवराज सरकार

Updated: Feb 22, 2021, 02:25 PM IST

राज्यपाल के अभिभाषण में शिवराज सरकार की उपलब्धियों का बखान, कोरोना काल में बेहतरीन कामकाज का दावा
Photo Courtesy: Zee news

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा में गिरीश गौतम को अध्यक्ष चुने जाने के बाद राज्यपाल आनंदी बेन पटेल का अभिभाषण हुआ। अभिभाषण से पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह, नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ और नवनिर्वाचित विधान सभा अध्यक्ष ने सदन में राज्यपाल आनंदी बेन पटेल की अगवानी की। राज्यपाल ने अपने अभिभाषण में सरकार की उपलब्धियां गिनाईं। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी से निपटते हुए देश की केंद्र सरकार ने कई उल्लेखनीय और महत्वपूर्ण कार्य किए हैं।

राज्यपाल ने कहा कि प्रदेश सरकार ने कोरोना महामारी में सराहनीय कार्य किया है। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए हर संभव कदम उठाए गए हैं। 11 महीने पहले सरकार ने विषम परिस्थितियों में कार्यभार ग्रहण किया था। उस समय कोरोना का संक्रमण लगातार फैल रहा था। सरकार ने कोरोना की चुनौती का सामना बेहतर तरीके से किया गया। पीपीई किट, टेस्टिंग किट, अस्पताल में कोरोना मरीजों के लिए पलंग का इंतजाम समय रहते हुआ। प्रदेश में 700 से ज्यादा फीवर क्लीनिक संचालित हो रहे हैं।

 

राज्यपाल आनंदी बेन पटेल  ने कह कि प्रदेश में प्रवासी मजदूरों की सहायता योजना का आरंभ किया गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आह्वान पर फ्रंट लाइन वर्कर्स और कोरोना योद्धाओं ने जी-जान से काम किया। कोरोना जैसे संकट की स्थिति में आत्मनिर्भर मध्य प्रदेश का रोडमैप लागू किया।

और पढ़ें: मध्य प्रदेश विधानसभा के 18वें अध्यक्ष बने गिरीश गौतम, निर्विरोध चुनाव के बाद नेता प्रतिपक्ष ने भी दी बधाई

राज्यपाल ने कहा कि प्रदेश में भूमाफिया के खिलाफ 384 केस दर्ज किए जा चुके हैं। चिटफंड कपंनियों से धोखाधड़ी का शिकार हुए लोगों को 700 करोड़ रुपए लौटाए गए हैं। प्रदेश सरकार ने करीब 8 हजार करोड़ कीमत की अवैध कब्जे वाली जमीनों को माफिया से मुक्त करवाया है। प्रदेश में भू स्वामित्व योजना लागू होने से ग्रामीणों को जमीन मालिक बनाने का काम किया गया है। मध्य प्रदेश सरकार ने सीएम हेल्प लाइन योजना का विस्तार किया है। मध्य प्रदेश में धर्म स्वातंत्र्य अधिनियम लागू किया जा चुका है।

कोरोना लॉकडाउन की वजह से रोज कमाने खाने वाले रेहड़ी पटरी वालों की रोजी रोटी का संकट आ गया था, उनका रोजगार खत्म हो गया था। उनके लिए सरकार ने स्ट्रीट वेंडर्स योजना लागू की। जिसके तहत रेहडी पटरी वालों को बिना ब्याज के 10-10 हजार रुपए का कर्ज उपलब्ध कराया गया जिससे उनके व्यापार का रास्ता खुल सके।

और पढ़ें: महंगाई के खिलाफ कांग्रेस का विरोध प्रदर्शन, साइकिल से विधानसभा गए कांग्रेस विधायक

राज्यपाल ने अपने अभिभाषण में कहा कि मध्य प्रदेश में नवकरणीय ऊर्जा में 10 गुना का इजाफा हुआ है। ओंकारेश्वर में विश्व की सबसे बड़ी बिजली योजना के लिए विश्व बैंक सर्वे कर रहा है। 2025 तक प्रदेश में 65 लाख हेक्टेयर क्षेत्र को सिंचित करने का लक्ष्य है। प्रदेश में सड़कों का नवीनीकरण का कार्य सतत जारी है, 2 हजार किलोमीटर लंबी सड़कें प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बनाई जा चुकी हैं। महिला  सुरक्षा और प्रदेश से अगवा हुई बेटियों को बचाने के लिए अभियान चलाया गया। किसानों को बिजली उपलब्धता के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। किसानों के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की तर्ज पर मुख्यमंत्री किसान सम्मान निधी दी जा रही है।