Firing after FIR on MLA : विदिशा से भोपाल तक कांग्रेस में आक्रोश

Congress : दिग्विजय सिंह के नेतृत्‍व में प्रदर्शन, भोपाल में कमलनाथ ने DGP को लिखी चिट्ठी

Publish: Jun-27, 2020, 02:44 AM IST

Firing after FIR on MLA :  विदिशा से भोपाल तक कांग्रेस में आक्रोश

विदिशा में बीती रात कांग्रेस विधायक शशांक भार्गव पर नगर पालिका अध्‍यक्ष मुकेश टंडन और बीजेपी कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए जानलेवा हमले से कांग्रेस में आक्रोश है। इस हमले के विरोध में कांग्रेस ने विदिशा में प्रदर्शन किया। पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के नेतृत्व में हुए इस विरोध प्रदर्शन में जीतू पटवारी समेत बड़ी संख्या में कांग्रेस कार्यकर्ता मौजूद थे। कांग्रेस ने विधायक के घर और फैक्ट्री में तोड़फोड़ करने वाले बीजेपी कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी की मांग की।

 कमलनाथ ने लिखा डीजीपी को पत्र,दोषियों पर कार्रवाई की मांग

वहीं इस मामले में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने डीजीपी को एक पत्र लिखा है। उन्होंने लिखा है कि शांति के टापू को अशांति के टापू में बदलने की कोशिश की जा रही है। कमलनाथ ने डीजीपी विवेक जौहरी को लिखे पत्र में जल्द से जल्द कार्रवाई करने की मांग की है। प्रदेश की कानून व्यवस्था पर प्रश्न चिन्ह लगाया है। कमल नाथ ने कहा कि कुछ समय से प्रदेश में हो रही ऐसी घटनाएं असामजिक तत्व के हौसले बुलंद होने की गवाही दे रही हैं। कमल नाथ ने कहा कि कुछ महीनों से प्रदेश में ऐसी घटनाएं देखने को मिल रही हैं, जिससे प्रदेश में अराजकता का माहौल व्याप्त हो रहा है।

Click :  MP : कांग्रेस MLA की फैक्ट्री पर BJP कार्यकर्ताओं ने की तोड़फोड़

इधर भोपाल में कांग्रेस प्रतिनिधि मंडल ने डीजीपी से मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा। प्रतिनिधि मंडल में पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी, पूर्व विधानसभा अध्‍यक्ष एनपी प्रजापति, पूर्व मंत्री सज्‍जन वर्मा, पीसी शर्मा, कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्‍यक्ष जीतू पटवारी, विधायक आरिफ मसूद, कांग्रेस नेता राजीव सिंह, भूपेंद्र गुप्‍ता आदि शामिल थे। प्रतिनिधि मंडल ने जन प्रतिनिधियों को सुरक्षा देने की मांग की है।

गौरतलब है कि विदिशा में गुरुवार देर शाम को भाजपा नगर पालिका अध्यक्ष मुकेश टंडन और उनके समर्थकों ने कांग्रेस विधायक शशांक भार्गव के घर और कार्यालय पर जमकर तोडफ़ोड़ की थी। विधायक शशांक भार्गव ने बताया था कि नगर पालिका अध्यक्ष मुकेश टंडन के साथ करीब 150 लोग फैक्ट्री पर पहुंचे थे। हंगामे के समय दो फायर भी किए गए। सूचना के बाद पुलिस भी देरी से पहुंची। 

इससे पहले शशांक भार्गव पर 25 जून को केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के खिलाफ अमर्यादित टिप्पणी करने पर कोतवाली पुलिस थाने में मामला दर्ज हुआ। बीजेपी कार्यकर्ताओं ने विधायक के खिलाफ ये एफआईर दर्ज करवाई लेकिन मामले ने इतना तूल पकड़ा कि बीजेपी नेता तोड़फोड़ और अटैक पर उतर आए।