सिंधिया ने स्वास्थ्य मंत्री को बताया भगवान राम, कांग्रेस का पलटवार, जनता और भगवान के बीच बिचौलिया बनने की नहीं है जरूरत

सिंधिया ने गुरुवार को ग्वालियर जिला अस्पताल में आईसीयू वार्ड और ऑक्सीजन प्लांट के लोकार्पण के दौरान यह बात कही, सिंधिया के इस बयान का कड़े शब्दों में विरोध हो रहा है

Updated: Oct 15, 2021, 09:34 AM IST

सिंधिया ने स्वास्थ्य मंत्री को बताया भगवान राम, कांग्रेस का पलटवार, जनता और भगवान के बीच बिचौलिया बनने की नहीं है जरूरत

ग्वालियर। केंद्रीय उड्डयन मंत्री अपनी आसमानी बातों के साथ साथ अब अपने बयानों को लेकर भी विवादों में फंसने लगे हैं। मध्य प्रदेश में आगामी उपचुनावों से पहले केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने अपने समर्थक और शिवराज सरकार में स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी को भगवान राम बता दिया। सिंधिया ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री प्रभु भी हैं और राम भी। 

सिंधिया के इस बतान का सोशल मीडिया पर पुरजोर विरोध हो रहा है। सोशल मीडिया यूजर्स सिंधिया के इस बयान को बीजेपी के हिंदुत्व राजनीति से जोड़ रहे हैं। यूजर्स का कहना है कि चुनाव आते ही सिंधिया ने बीजेपी के एजेंडे से वफादारी निभाते हुए हिंदुत्व कार्ड खेलना शुरू कर दिया। 

वहीं कांग्रेस पार्टी ने भी सिंधिया के इस बयान का पुरजोर विरोध किया है। कांग्रेस विधायक सतीश सिकरवार ने सिंधिया के बयान पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि भगवान और जनता के बीच बिचौलिया बनने की कोई जरूरत नहीं है। कांग्रेस विधायक ने कहा कि अगर कोई नेता अच्छा काम करेगा तो ज़ाहिर है कि उसकी तारीफ होगी। लेकिन अपने राजनीतिक हित साधने के लिए भगवान का उपयोग करना ओछी राजनीति का प्रमाण है। कांग्रेस विधायक ने कहा कि भगवान राम पर किसी की ठेकेदारी नहीं है। 

यह भी पढ़ें : पूर्व IAS ने उड़ाई उड्डयन मंत्री की गिल्ली, घरेलू मैदान में क्लीन बोल्ड हुए सिंधिया, कांग्रेस बोली- बिके हुए खिलाड़ी हैं

दरअसल गुरुवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया ग्वालियर जिला अस्पताल में आईसीयू वार्ड और ऑक्सीजन प्लांट का लोकार्पण करने पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने प्रभुराम चौधरी की शान में कसीदे पढ़ते पढ़ते उनकी तुलना भगवान राम से कर दी। सिंधिया ने कहा कि हमारे स्वास्थ्य मंत्री का नाम प्रभु और राम है। ये हमारे प्रभु जी की लीला ही है कि जब जनता 6 करोड़ मांगती है तो वे बीस करोड़ दे देते हैं।