सिंधिया के दौरे के खिलाफ MP हाई कोर्ट में दायर हुई याचिका, आज हो सकती है मामले की सुनवाई

सिंधिया के तीन दिवसीय दौरे के खिलाफ एमपी हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई है, इसमें कोरोना गाइडलाइन और इसकी संभावित तीसरी लहर को देखते हुए भव्य आयोजन रोक लगाने की मांग की गई है

Publish: Sep 21, 2021, 09:34 AM IST

सिंधिया के दौरे के खिलाफ MP हाई कोर्ट में दायर हुई याचिका, आज हो सकती है मामले की सुनवाई

ग्वालियर। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के ग्वालियर दौरे में बड़ा खलल पड़ सकता है। कांग्रेस के विरोध के साथ साथ ग्वालियर की जनता भी सिंधिया के इस दौरे के खिलाफ हो गई है। ग्वालियर के रहने वाले एक व्यक्ति ने एमपी हाई कोर्ट में सिंधिया के प्रस्तावित दौरे के खिलाफ याचिका दायर की है। जिसमें केंद्रीय मंत्री के दौरे पर रोक लगाने की मांग की गई है। 

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट की मुख्य बेंच जबलपुर में ग्वालियर निवासी डोंगर सिंह ने जनहित याचिका दायर की है। याचिकाकर्ता ने सिंधिया के दौरे पर जुटने वाली संभावित दौरे पर जुटने वाली भीड़ को रोकने और कोरोना के खतरे को देखते हुए दौरे को भव्य रूप प्रदान न करने देने की अपील की गई है। 

याचिकाकर्ता ने कहा है कि खुद ग्वालियर के प्रभारी मंत्री केंद्रीय मंत्री के दौरे को भव्य रूप देने की पूरी तैयारी कर रहे हैं। कोरोना की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए दौरे को भव्य रूप देने की अनुमति नहीं मिलनी चाहिए। केंद्रीय मंत्री के दौरे पर भारी संख्या में भीड़ जुटने का अनुमान है। लिहाज़ा इससे कोरोना संक्रमण के मामलों में उछाल आने की आशंका है।

याचिकाकर्ता ने इस मामले में मध्य प्रदेश शासन के मुख्य सचिव, गृह विभाग के मुख्य सचिव, ग्वालियर और मुरैना के एसपी और कलेक्टर को पार्टी बनाया है। सिंधिया के दौरे के खिलाफ दायर जनहित याचिका पर आज कोर्ट में सुनवाई हो सकती है। 

यह भी पढ़ें : सड़क मार्ग से ग्वालियर आएंगे उड्डयन मंत्री, कांग्रेस करेगी कड़ा विरोध

दूसरी तरफ कांग्रेस भी केंद्रीय मंत्री के दौरे के दौरान आयोजित होने वाले रोड शो का विरोध करने की तैयारी कर रही है। कांग्रेस केंद्रीय मंत्री को भीड़ जुटाने की अनुमति देने के खिलाफ सड़क पर उतरने वाली है। उड्डयन मंत्री 22 सितंबर को सड़क मार्ग के जरिए दिल्ली से ग्वालियर आ रहे हैं। केंद्र में मंत्री बनने के बाद यह पहला मौका है जब सिंधिया ग्वालियर आ रहे हैं, लिहाज़ा उनके समर्थक भारी भीड़ जुटाकर शक्ति प्रदर्शन की तैयारी कर रहे हैं।