सतना में पुलिस और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं में हुई झड़प, गर्भवती कॉन्स्टेबल घायल

चर्च में प्रार्थना के दौरान बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने किया था हंगामा, धर्मांतरण के शक में मचा रहे थे बवाल, पुलिस ने मौके पर पहुँच कर शांत कराया मामला, थाने के बाहर उग्र प्रदर्शन करने लगे बजरंग दल के कार्यकर्ता, जवाबी कार्रवाई में पुलिस और बजरंग दल में हुई झड़प, गर्भवती कॉन्स्टेबल हो गई घायल, अस्पताल में भर्ती

Updated: Nov 19, 2021, 08:08 AM IST

सतना में पुलिस और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं में हुई झड़प, गर्भवती कॉन्स्टेबल घायल

सतना। सतना में कट्टर हिंदू संगठन बजरंग दल और पुलिस के बीच झड़प हो गई। बजरंग दल के कार्यकर्ता पुलिस थाने के बाहर उग्र प्रदर्शन कर रहे थे। जिसके बाद पुलिस और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं में झड़प हो गई। इस झड़प में एक गर्भवती पुलिस कॉन्स्टेबल घायल हो गई। घायल कॉन्सटेबल को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।  

मामला सतना के कोलगवां थाना क्षेत्र का है। रविवार शाम को बजरंग दल के कुछ कार्यकर्ता चर्च ऑफ गॉड के बाहर हंगामा कर रहे थे। बजरंग दल के कार्यकर्ताओं का आरोप था कि चर्च के भीतर धर्मांतरण कराया जा रहा है। बजरंग दल के कार्यकर्ताओं द्वारा हंगामे की खबर लगते ही पुलिस मौके पर पहुँच गई। पुलिस की टीम जब चर्च में दाखिल हुई तो वहां प्रार्थना हो रही थी। पुलिस ने चर्ज ऑफ गॉड के फादर बीजू थोमस से जब बात की तब उन्होंने धर्मांतरण के दावे सीधे तौर पर खारिज कर दिया। पादरी ने बताया कि हर रविवार को सुबह 9 से 11 प्रार्थना होती है। प्रार्थना करने आए लोगों ने भी पुलिस को बताया कि वे स्वेच्छा से चर्च में प्रार्थना करने आए हैं।

इसके बाद पुलिस हंगामा करने वाले बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को मौके से रवाना कर दिया । पुलिस जब थाने में बयान दर्ज करा रही थी, तब थाने के बाहर बजरंग दल के कार्यकर्ता प्रदर्शन करने लगे। थाने के बाहर उपद्रवियों ने टायर जलाकर चक्काजाम कर दिया। 

बजरंगियों के उग्र प्रदर्शन को शांत कराने के लिए पुलिस के कुछ जवान थाने के बाहर पहुँचे। जिसके बाद पुलिस और उपद्रवियों में बहस होने लगी। बजरंग दल के कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच धक्का-मुक्की हो गई। धक्का मुक्की के दौरान पुलिस कॉन्स्टेबल प्रियंका सिंह भी मौके पर मौजूद थीं। धक्का मुक्की में  वे घायल हो गईं। प्रियंका सिंह पटेल को तुरंत ही अस्पता में भर्ती कराया गया। 

उधर पुलिस ने बजरंग दल के उपद्रवियों को मौके से खदेड़ना चालू कर दिया। पुलिस के लाठीचार्ज में बजरंग दल के कार्यकर्ता घायल हो गए। देर शाम पुलिस ने हंगामा मचाने वाले कार्यकर्ताओं को एसपी धर्मवीर सिंह के सामने पेश किया। जिसके बाद एसपी ने इस पूरे मामले की जांच एएसपी एसके जैन को सौंप दी।