आदिवासी मौत मामले में कांग्रेस के कड़े विरोध का हुआ असर, खरगोन एसपी निलंबित

खरगोन के बिस्टान में एक आदिवासी युवक की पुलिस थाने में बेहरमी से पिटाई की गई थी, जिसके बाद युवक ने दम तोड़ दिया था, कांग्रेस इस मामले में लगातार शिवराज सरकार पर कार्रवाई का दबाव बना रही थी, अब सीएम ने खरगोन के एसपी को निलंबित करने की घोषणा की है

Updated: Sep 12, 2021, 12:44 PM IST

आदिवासी मौत मामले में कांग्रेस के कड़े विरोध का हुआ असर, खरगोन एसपी निलंबित

भोपाल/खरगोन। खरगोन के बिस्टान थाने में आदिवासी युवक की हत्या मामले में शिवराज सरकार एक्शन मोड में आ गई है। कांग्रेस के कड़े विरोध के बाद शिवराज सरकार ने खरगोन एसपी पर इस पूरे मामले में गाज गिराई है। शिवराज सरकार ने खरगोन एसपी को निलंबित कर दिया है। 

खुद सीएम शिवराज सिंह चौहान ने खरगोन एसपी को निलंबित किए जाने की जानकारी दी है। सीएम ने कहा है कि ठीक से सुपरविजन न होने के कारण एसपी को हटाने का फैसला लिया गया है। सीएम ने कहा है कि अभी इस मामले की न्यायिक जांच चल रही है, जांच में जिस किसी का भी नाम सामने आएगा, उस पर कार्रवाई की जाएगी। 

यह भी पढ़ें : MP पुलिस का थर्ड डिग्री टॉर्चर, चोरी के शक में आदिवासी युवक को पीट-पीटकर मार डाला, गुस्साए लोगों ने थाने में मचाया बवाल

खरगोन के बिस्टान में बीते सोमवार 35 वर्षीय बिसेन नामक आदिवासी की मौत हो गई थी। बिसेन समेत कुल बारह लोगों को पुलिस चोरी के शक में गिरफ्तार कर थाने ले गई थी। जिसके बाद बेरहमी से पिटाई किए जाने के कारण आदिवासी युवक ने दम तोड़ दिया था। आदिवासी युवक की मौत के बाद ग्रामीणों ने थाने पहुंच कर जमकर हंगामा किया था। 

वहीं कांग्रेस ने इस पूरे मामले में प्रदेश की लचर कानून व्यव्स्था पर सवाल खड़े किए थे। कांग्रेस लगातार शिवराज सरकार पर कार्रवाई करने का दबाव बना रही थी। अरुण यादव के नेतृत्व में कांग्रेस का एक प्रतिनिधिमंडल इस सिलसिले में मध्य प्रदेश के डीजीपी से भी मिला था। वहीं आदिवासी युवक की मौत के बाद एसपी ने चार जेल पुलिसकर्मियों को हटा दिया था। शिवराज सरकार ने इस घटना के न्यायिक जांच के आदेश दिए थे। 

यह भी पढ़ें : पुलिसकर्मियों के खिलाफ दर्ज हो हत्या का प्रकरण, खरगोन मामले में DGP से मिले अरुण यादव

इससे पहले हाल ही में नीमच में कन्हैया भील नामक एक आदिवासी व्यक्ति की भी चोरी के शक में बेरहमी से पीटकर हत्या कर दी गई थी। सीएम ने मृतक कन्हैया भील के परिजनों को राज्य सरकार की तरफ से तमाम सहायता प्रदान किए जाने का भरोसा दिलाया है। सीएम ने यह जानकारी दी कि मृतक कन्हैया भील का बेटा दुर्गाशंकर इस समय अपनी मां के साथ राजस्थान गया हुआ है। सीएम ने कहा है कि मृतक कन्हैया भील के बेटे की शिक्षा और लालन पालन की जिम्मेदारी भी शिवराज सरकार उठाएगी। इसके साथ ही कन्हैया भील के दो भाईयों के मकान भी उनकी सरकार तैयार कराएगी। इसके अतिरिक्त दो दो लाख रुपए की सहायता राशि दिए जाने की घोषणा भी सीएम ने की है।