उज्जैन के महाकाल मंदिर में मची भगदड़, अचानक गिरा टीन शेड, कई श्रद्धालुओं को आई चोटें

उज्जैन रुद्रसागर क्षेत्र में टीन सेड गिरने से महाकाल मंदिर दर्शन करने पहुंचे श्रद्धालुओं में भगदड़ मच गई, मौके पर मौजूद पुलिस कर्मियों ने किसी तरह मोर्चा संभाला, रिपोर्ट्स के मुताबिक बारिस के चलते श्रद्धालु टीन सेड के नीचे खड़े थे

Updated: Jul 26, 2022, 11:05 AM IST

उज्जैन के महाकाल मंदिर में मची भगदड़, अचानक गिरा टीन शेड, कई श्रद्धालुओं को आई चोटें

उज्जैन। बाबा महाकाल की नगरी उज्जैन के रुद्रसागर क्षेत्र में टीन शेड गिरने से श्रद्धालुओं में भगदड़ मच गई। मौके पर मौजूद पुलिस कर्मियों ने किसी तरह मोर्चा संभाला। बताया जा रहा है बारिश के चलते श्रद्धालु टीन शेड के नीचे खड़े थे। इसी दौरान यह गिर गई। इस दुर्घटना में कुछ श्रद्धालुओं के घायल होने की बात भी सामने आ रही है।

दरअसल, सावन का सोमवार होने के कारण यहां हजारों की संख्या में श्रद्धालु बाबा महाकाल के दर्शन करने पहुंचे थे। श्रधालुओं की संख्या बढ़ने से अचानक अफरातफरी का माहौल हो गया। बारिश होने के कारण श्रद्धालु एक टीन शेड के नीचे खड़े हो गए। श्रधालुओं की संख्या बढ़ने से क्षेत्र में दबाव बढ़ गया और टीन शेड गिर गया, जिससे श्रद्धालु को चोटें भी लगी हैं। हालांकि यहां पुलिस ने तत्काल मोर्चा संभाल लिया।

यह भी पढ़ें: अपना घर नहीं बचा पाए सिंधिया, जनता ने बता दी उनकी हैसियत, ज्योतिरादित्य पर बरसे नेता प्रतिपक्ष

सावन मास में बाबा महाकाल के दर्शन के लिए हजारों श्रद्धालु प्रतिदिन उज्जैन पहुंच रहे है। सोमवार को भी दर्शन के लिए हजारों लोग लाइन में लगे थे। स्थिति ये हुई की श्रद्धालुओं की लाइन चारधाम मंदिर के आगे तक पहुंच गई थी। सुबह करीब छह बजे एकाएक भगदड़ की स्थिति बन गई। जिससे कुछ लोग भीड़ के कारण भी दब गए। करीब सात लोग घायल हुए हैं। भीड़ बढ़ने से पुलिस व प्रशासन के हाथ-पांव फूल गए थे। हालत यह हो गई कि फूल-प्रसाद बेचने वालों ने स्थिति संभाली और लाठी चला दी।

गुना के आरोन से प्रितम सिंह उम्र 45 वर्ष, गजेंद्रसिंह उम्र 50 वर्ष निवासी आरोन 14 अन्य लोगों के साथ महाकाल दर्शन करने के लिए उज्जैन आए थे। सुबह करीब पांच बजे सभी ट्रेन से उज्जैन में उतरे और सीधे महाकाल मंदिर पहुंच गए थे। जहां चारधाम मंदिर के समीप दर्शन की लाइन में लगे थे। उसी दौरान भीड़ बढ़ने से भगदड़ की स्थिति बन गई। दबने के कारण प्रितमसिंह बेहोश हो गया तथा गजेंद्र घायल हो गया। इसके अलावा अन्य साथियों को भी मामूली चोट लगी थी। पुलिस ने सभी को निकाला और उपचार के लिए जिला अस्पताल भेजा। जहां प्रितम व गजेंद्र को भर्ती किया गया है।