चंबल में डकैतों का आतंक बरकरार, गुड्डा गुर्जर गैंग ने टेरर टैक्स नहीं देने पर ग्रामीणों को पीटा

गुड्डा गुर्जर गैंग के डकैतों ने आदिवासी ग्रामीणों से मारपीट कर टेरर टैक्स मांगा। सूचना पाकर भी नहीं पहुंची पुलिस। शिवराज सरकार में कानून व्यवस्था पर उठ रहे गंभीर सवाल।

Updated: Oct 04, 2022, 09:50 AM IST

चंबल में डकैतों का आतंक बरकरार, गुड्डा गुर्जर गैंग ने टेरर टैक्स नहीं देने पर ग्रामीणों को पीटा

मुरैना। मध्य प्रदेश के चंबल अंचल में डकैतों का आतंक अब भी कायम है। मुरैना जिले के पहाड़गढ़ थाना इलाके में बेखौफ डकैतों ने ग्रामीणों को बेरहमी से पीटा। जानकारी के मुताबिक गुड्डा गुर्जर गैंग के लोगों ने आदिवासी ग्रामीणों से टेरर टैक्स मांगा। नहीं देने पर बेरहमी से पिटाई की। हैरानी की बात ये है कि सूचना देने पर भी पुलिस वहां नहीं पहुंची जिससे ग्रामीणों में दहशत व्याप्त है।

मामला पहाड़ गढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत कोटसिथरा गांव का है। यहां बीते दिनों आधा दर्जन से अधिक डकैत पहुंचे और सभी परिवार से 25-25 हजार रुपए की डिमांड की। रुपए नहीं देने पर उन्होंने आदिवासी परिवारों को बेरहमी से पीटा। ये डकैत खुद को गुड्डा गुर्जर गैंग का सदस्य बता रहे थे। सूचना देने के बाद भी पुलिस गांव नहीं पहुंची जिससे नाराज आदिवासियों ने पहाड़गढ़ थाना का घेराव कर दिया। 

यह भी पढ़ें: हमें कोई नहीं रोक सकता, जैसे आज यह बारिश नहीं रोक पाई, भारी बारिश में राहुल का संबोधन, टस से मस नहीं हुए लोग

ग्रामीणों का कहना है कि डकैत गुंडा गुर्जर एक साल से उन्हें परेशान कर रहा है। वह कई बार इसकी शिकायत कर चुके हैं। लेकिन पुलिस उन्हें सिर्फ आश्वासन देती है कोई एक्शन नहीं लिया जाता। तंग आकर कई आदिवासी परिवार गांव से पलायन भी कर चुके हैं। इतना ही नहीं पुलिस ने मुकदमा तक दर्ज नहीं किया है। 

पहाड़गंज थाना प्रभारी धर्मेंद्र गौर ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है। जांच के बाद ही एफआईआर दर्ज किया जाएगा। बता दें कि चंबल अंचल के पहाड़गढ़ इलाके में यह कोई पहला मामला नहीं है। इससे पहले मरा गांव के 70 आदिवासी परिवारों से 1 हजार रुपए के हिसाब से डकैत टेरर टैक्स ले चुके है। आदिवासी परिवार पुलिस अधीक्षक से सुरक्षा मुहैया कराने की लगातार गुहार लगा रहे हैं।