पति ने पत्नी के लिए बनवाया ताजमहल, 4 बेडरूम वाले घर को आगरा के कारीगरों ने 3 साल में किया तैयार

बुरहानपुर के आनंद प्रकाश चौकसे ने पत्नी मंजूषा को गिफ्ट किया ताजमहल के आकार का घर, 90x90 के एरिया में बने घर में गुंबज, मीनारें, फ्लोरिंग, नक्काशी ताजमहल जैसी हैं, इसे देखने आ रहे दूर-दूर से लोग

Updated: Nov 22, 2021, 01:46 PM IST

पति ने पत्नी के लिए बनवाया ताजमहल, 4 बेडरूम वाले घर को आगरा के कारीगरों ने 3 साल में किया तैयार
Photo Courtesy: twitter

बुरहानपुर। ताजमहल को प्यार की निशानी कहा जाता है, यही वजह है कि लोग इसकी फोटो या मूर्ति तोहफे में देना पसंद करते हैं। लेकिन बुरहानपुर के एक शख्स की दीवानगी इतनी की उसने अपनी पत्नी के लिए ताजमहल जैसा घर ही बनवाकर गिफ्ट कर दिया। यह घर सफेद संगमरमर से तैयार किया गया है। जो की हूबहू ताजमहल की तरह ही नजर आता है।

इस घर का निर्माण बुरहानपुर निवासी आनंदप्रकाश चौकसे ने करवाया था। असली ताजमहल की ही तरह यहां भी 4 मीनारों का निर्माण करवाया गया है। मीनार सहित यह ताजमहल 90x90 एरिया में बना है। जिसे आगरा से आए कारीगरों ने 3 साल की कड़ी मेहनत से तैयार किया है। इस घर का बेसिक स्ट्रक्चर 60X60 का है। जबकि इसका डोम 29 फीट ऊंचा है। इस दो मंजिला घर में एक बड़ा हॉल है, जो किदेखने में काफी रॉयल है, 2 बेडरूम ग्राउंड फ्लोर पर और 2 बेडरूम ऊपर हैं। एक किचन, एक लाइब्रेरी और एक मेडिटेशन रूम बनाया गया है। इसकी नक्काशी बंगाल और इंदौर के कलाकारों ने की है।

आगरा के ताजमहल की तरह इसकी सफेद संगमरमर पर हरे रंग की डिजाइन वाली  मार्बल प्लेट्स लगाई गई हैं। हॉल से होती हुई सीढ़ियां उपर दो तरफ जाती है। जिसकी वजह से इसकी भव्यता देखते ही बनती है।  इस ताजमहलनुमा घर की फ्लोरिंग राजस्थान के मकराना से मंगवाई गई है। घर का साज सज्जा में उपयोग किया गया फर्नीचर मुंबई से बुलवाए गए खास कारीगरों ने तैयार किया है। इस घर के अंदर और बाहर की लाइटिंग भी कमाल की है। इसे खास तरीके से लगाया गया है, लाइटिंग का ही कमाल है कि रात में ये घर ताजमहल की तरह ही चमक बिखेरता नजर आता है।

आनंद चौकसे ने घर बनवाने से पहले ताजमहल के बारे में रिसर्च की, वहां जाकर हर जगह का मुआय़ना किया। ताजमहल की नक्काशी, वास्तुकला, पत्थरों का बारीकी से अध्ययन किया। इस काम में उनका साथ उनकी पत्नी मंजूषा ने बखूबी दिया।

 

इस घर को आगरा के ताजमहल का रंग रूप देने वाले आनंद प्रकाश का कहना है कि वे अपनी पत्नी को प्यार की निशानी के तौर पर कुछ देना चाहते थे। तभी उनके मन में आगरा के ताज महल का ख्याल आया। उन्हें लगा की ताजमहल उनके शहर बुरहानपुर में क्यों नहीं हो सकता। मुगल इतिहासकारों का दावा है कि शाहजहां की बेगम मुमताज़ की मौत बुरहानपुर में हुई थी पहले शाहजहां ने ताजमहल का निर्माण करवाने के लिए ताप्ती नदी का किनारा पसंद किया था। लेकिन बाद में उसने यमुना के किनारे विश्व प्रसिद्ध ताजमहल का निर्माण करवाया।

आनंद की मानें तो उन्हें इस बात का मलाल था कि बुरहानपुर में ताजमहल क्यों नहीं है। अब आखिरकार उन्होंने अपनी पत्नी के लिए ताजमहल की तरह दिखने वाला खूबसूरत घर गिफ्ट किया है।आनंद प्रकाश चौकसे बुरहानपुर के जानेमाने शिक्षाविद् हैं। उनकी पत्नी मंजूषा चौकसे यह खास गिफ्ट पाकर फूली नहीं समा रही हैं।