सलकनपुर धाम से नोटों की तीन बोरियां उड़ा ले गए चोर, पांच पुलिसकर्मी सस्पेंड, संदिग्धों से हो रही पूछताछ

सीहोर जिले में सलकनपुर में विंध्य की पहाड़ियों पर सुप्रसिद्ध देवी धाम बिजासन देवी का मंदिर है। चोर तमाम सुरक्षा व्यवस्था को धता बताते हुए रुपए उड़ा ले गए।

Updated: Nov 16, 2022, 11:27 AM IST

सलकनपुर धाम से नोटों की तीन बोरियां उड़ा ले गए चोर, पांच पुलिसकर्मी सस्पेंड, संदिग्धों से हो रही पूछताछ

सीहोर। सलकनपुर के सुप्रसिद्ध बिजासन देवी मंदिर में भी चोरों ने सेंध लगा दी। चोरी की वारदात से प्रदेशभर में हड़कंप मच गया। मंदिर में तमाम सुरक्षा व्यवस्था के बावजूद चोर घुस गए और नोटों से भरी पांच से छह बोरियां चुराईं। इनमें से तीन बोरियां साथ ले गए और दो बोरियां छोड़कर भाग निकले। मामले में पांच पुलिसकर्मियों को निलंबित किया गया है।

मामला 14 नवम्बर की रात्रि का है। यहां अज्ञात चोर ने दान में मिले रुपए चुरा ले गए। सलकनपुर मंदिर के पुजारी प्रमोद उपाध्याय की सूचना पर रेहटी थाने में आरोपियों के विरुद्ध केस दर्ज किया गया। प्रदेश के सबसे बड़े देवी धाम सलकनपुर में हुई लाखों की चोरी के मामले में दो दिन बाद भी पुलिस को अभी कोई सुराग नहीं मिला है। मामले में अब तक न तो सीसीटीवी फुटेज जारी हो सके है न ही फुटेज के आधार पर पुलिस कोई स्कैच जारी कर पाई है।

यह भी पढ़ें: MP में कर्नाटक से आएंगे 15 हाथी, STR, पेंच और कान्हा रिजर्व में हाथी लाने की तैयारी

पुलिस सूत्रों का कहना है कि चार पांच संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है, पुलिस एक बोलेरो वाहन की भी तलाश कर रही है। मामला पूरे प्रदेश में चर्चा का केन्द्र बना हुआ है। पीसीसी चीफ कमलनाथ ने शिवराज सरकार में कानून व्यवस्था पर गंभीर सवाल खड़े किए हैं। ऐसे में मामले की गंभीरता तो देखते हुए केस संभावता एसटीएफ को सौंपा जा सकता है।

चोरी की वारदात सोमवार रात करीब 2 बजे हुई, जिसका पता सुबह 4 बजे उस समय चला, जब मंदिर के पुजारी मंदिर में पहुंचे। पुजारी को स्ट्रांग रूम का ताला टूटा दिखा तो उन्होंने इसकी सूचना मंदिर समिति के अध्यक्ष महेश उपाध्याय, सचिव आरके दुबे को दी। मंदिर समिति ने करीब 10 लाख रुपए की चोरी की बात कही है। उनका कहना है कि स्ट्रांग रूम में सोना-चांदी समेत अन्य कीमती सामान रखा हुआ था। चोर इसे छोड़ गए हैं।

सलकनपुर स्थित मां विजयासन धाम में हर साल लाखों-करोड़ों रुपए की नकदी और सोना-चांदी के जेवरात भक्त दान करते हैं। विदेशों से भी मंदिर समिति के पास चंदा आता है। नकदी और सोना-चांदी के जेवरात मंदिर में बने स्ट्रांग रूम में रखा जाता है। इसके बाद इनकी गिनती का कार्य भी यहीं पर होता है। नोटों की गिनती मंदिर समिति के अध्यक्ष, सचिव, सदस्यों सहित अन्य पदाधिकारियों की निगरानी में किया जाता है। नकदी की गिनती भी CCTV कैमरे में होती है। हालांकि पिछले कुछ समय से नकदी की गिनती नहीं हो पाई थी, इसलिए इन्हें बोरियों में भरकर रखा गया था।