घोटालों से मुक्ति और अत्याचार से छुटकारा पाएंगे, मल्लिकार्जुन खड़गे ने MP के लोगों से की मतदान की अपील

मध्य प्रदेश के साढ़े आठ करोड़ लोग परिवर्तन के लिए एकजुट, हमारी माताओं-बहनों का बहुमूल्य वोट महिलाओं के लिए आर्थिक सुरक्षा चक्र खड़ा करेगा, जिससे वो स्वावलंबन के पथ पर अग्रसर होंगी: मल्लिकार्जुन खड़गे

Updated: Nov 17, 2023, 07:49 AM IST

भोपाल। मध्य प्रदेश में 230 सीटों के लिए वोटिंग की शुरुआत हो चुकी है। मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में मुख्य मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच है। चुनावी मैदान में कुल 2 हजार 533 उम्मीदवार हैं, जिनमें मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ और सीएम शिवराज सिंह चौहान भी शामिल हैं। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने प्रदेशवासियों से परिवर्तन के लिए वोट देने की अपील की है।

मल्लिकार्जुन खड़गे ने ट्वीट किया, 'मध्य प्रदेश के साढ़े आठ करोड़ लोग आज जीतेंगे, क्योंकि वे परिवर्तन के लिए एकजुट हैं। हमारा पहली बार वोट डालने वाले युवाओं से आग्रह है कि वे इस बदलाव के आंदोलन में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेकर, मतदान अवश्य करें। रोज़गार के नए आयाम आपका इंतज़ार कर रहें हैं और आप प्रदेश के भर्ती घोटालों से मुक्ति पाएंगे। हमारी माताओं-बहनों का बहुमूल्य वोट महिलाओं के लिए आर्थिक सुरक्षा चक्र खड़ा करेगा, जिससे वो स्वावलंबन के पथ पर अग्रसर होंगी।'

खड़गे ने आगे लिखा, 'हमारे किसान, खेत-मज़दूर भाई-बहन, फ़सल के लिए बेहतर दाम पाएँगे और उनके एक वोट से उनका क़र्ज़ माफ़ होगा। हमारे दलित, आदिवासी व पिछड़े समाज के लोग रोज़ाना हो रहे अत्याचार से छुटकारा पाएँगे और न्याय प्रणाली में विकास के प्रबल भागीदार बनेंगे। आपके एक वोट की शक्ति - छात्रों को आर्थिक मदद, स्वास्थ्य व पेयजल का अधिकार व इलाज के लिए निःशुल्क बीमा, जैसी महत्वपूर्ण सामाजिक सुरक्षा प्रदान कर सकती है। … तो बढ़ाइये हाथ वोटिंग बटन पर, और अपने लोकतांत्रिक अधिकार का जमकर प्रयोग कीजिए। विजयी होगा मध्य प्रदेश, बेहतर बनेगा अपना देश।'

मध्य प्रदेश की कुल 230 में से 148 विधानसभा सामान्य हैं। जबकि 35 अनुसचित जाति और 47 अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। भाजपा और कांग्रेस के उम्मीदवार सभी 230 सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं। जबकि, बसपा ने 181, सपा ने 71 और आम आदमी पार्टी ने 66 उम्मीदवार उतारे हैं। प्रदेश में कुल वोटर्स की संख्या 5,60,60,925 है। इनमें पुरुष मतदाताओं की संख्या 2,88,25,607 जबकि महिला मतदाताओं की संख्या 2,72,33,945 है। जबकि थर्ड जेंडर के 1,373 वोटर्स हैं।

मतदान हेतु आवश्यक दस्तावेज:

वोटिंग के लिए मतदाता वोटर आईडी कार्ड न होने की स्थिति में भी इन विभिन्न आईडी कार्ड के माध्यम से वोट डाल सकते हैं। इनमें से कोई एक दस्तावेज ले जाना अनिवार्य होगा।
1. आधार कार्ड
2. मनरेगा जॉब कार्ड
3. ड्राइविंग लाइसेंस
4. पैन कार्ड
5. भारतीय पासपोर्ट,
6. फोटो युक्त पेंशन दस्तावेज
7. केन्द्र / राज्य सरकार / लोक उपक्रम / पब्लिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा अपने कर्मचारियों को जारी किए गए फोटो युक्त सेवा पहचान पत्र ।
8. बैंकों/ डाकघरों द्वारा जारी फोटो युक्त पासबुक,
9. एनपीआर के अंतर्गत आरजीआई द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड
10. श्रम मंत्रालय की योजना के अंतर्गत जारी स्वास्थय बीमा स्मार्ट कार्ड
11. सांसदों / विधायकों विधानपरिषद सदस्यों को जारी किए गए सरकारी पहचान पत्र 
12. भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा दिव्यांगजनों को जारी यूनिक डिसएबिलिटी आईडी (यूडीआईडी कार्ड का उपयोग कर सकते हैं।