केंद्रीय कर्मचारियों को महंगाई भत्ते के लिए करना होगा 1 जुलाई तक का इंतजार, एरियर का भी नहीं मिलेगा लाभ

केंद्र सरकार के एक बयान से केंद्रीय कर्मचारियों को बड़ा झटका लगा है, सरकार ने 1 जुलाई तक DA देने से किया इनकार, फिलहाल कर्मचारियों को मिल रहा है 17 फीसदी DA, जिसे 28 फीसदी किया जाना है

Updated: Apr 24, 2021, 01:40 PM IST

केंद्रीय कर्मचारियों को महंगाई भत्ते के लिए करना होगा 1 जुलाई तक का इंतजार, एरियर का भी नहीं मिलेगा लाभ
Photo courtesy: aaj tak

दिल्ली। केंद्रीय कर्मचारियों के लिए कोरोना काल में एक और बुरी खबर है। 1 जनवरी 2020 से लेकर 30 जून 2021 तक उन्हें किसी बकाया राशि का पेमेंट नहीं किया जाएगा। याने देशभर के करीब 52 लाख से ज्यादा केंद्रीय कर्मचारियों को एरियर का लाभ नहीं देने की योजना सरकार ने बनाई है। वहीं सरकार ने साफ किया है कि 1 जुलाई 2021 से महंगाई भत्ता बढ़ने का फायदा मिल सकेगा। बता दें कि देशभर में करीब 52 लाख केंद्रीय कर्मचारी और 60 लाख से ज्यादा पेंशनर्स हैं, जिन्हें जुलाई से महंगाई भत्ता मिलेगा। एरियर की आस लगाए बैठे कर्मचारियों के लिए केंद्र सरकार का यह फैसला किसी झटके से कम नहीं है।

फिलहाल सरकार ने साफ कर दिया गया है कि कि केंद्र की बीजेपी सरकार केंद्रीय कर्मचारियों का मंहगाई भत्ता 1 जुलाई 2021 तक नहीं बढ़ाएगी। कर्मचारियों को पुराने महंगाई भत्ता से ही संतोष करना पड़ेगा। फिलहाल केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स को 17 प्रतिशत का महंगाई भत्ता दिया जा रहा है। गौरतलब है कि पहले वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने संसद सत्र के दौरान कहा था कि 1 जुलाई 2021 से केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनर्स के लिए महंगाई भत्ता को अपडेट किया जाएगा। फिलहाल 1 जनवरी 2020 से इसे नहीं बढ़ाया गया है।

कर्मचारियों के DA की गणना उनके बेसिक वेतन के आधार पर होती है। जिसमें TA याने ट्रेवल अलाउंस भी DA याने महंगाई भत्ते के साथ में बढ़ता जाता है। ऐसे में DA बढ़ने पर TA भी बढ़ जाएगा। DA और TA में इजाफा होने से केंद्रीय कर्मचारियों का अलाउंस वाला भाग बढ़ेगा, जिससे उनकी नेट CTC याने कॉस्ट टू कंपनी बढ़ जाएगी।

सातवें वेतन आयोग के नियमों के हिसाब से किसी कर्मचारी की सैलरी तीन भागों में बांटी जाती है। सातवें वेतन आयोग के नियमों के मुताबिक कर्मचारी की बेसिक सैलरी, मिलने वाले भत्ते और कटौती शामिल होती है। नेट सीटीसी एक केंद्रीय सरकारी कर्मचारी का वह वेतन है जो 7वें सीपीसी फिटमेंट फैक्टर और सभी भत्तों से गुणा किया गया मूल वेतन का योग है। कर्मचारी की नेट सीटीसी जानने के लिए उसके मूल वेतन को फिटमेंट फैक्टर जो कि 2157 से गुणा किया जाता है। फिर उसमें मिलने वाले भत्तों को जोड़ा जाता है।

वर्तमान समय में DA 17 प्रतिशत है  जो कि 1 जुलाई 2021 से 28 प्रतिशत करने की चर्चा है। ऐसे में DA बढ़ने पर TA भी बढ़ जाएगा। जिसके बाद केंद्रीय कर्मचारियों के लिए अलाउंस का हिस्सा बढ़ जाएगा, जिसकी वजह से उनकी सैलरी में इजाफा होगा। लेकिन इसके लिए कर्मचारियों को और कुछ महीने इंतजार करना होगा। दरअसल देश कोरोना के संकट के दौर से गुजर रहा है, कर्मचारियों का DA बढ़ने से कई कोरोड़ का खर्चा देश पर आ जाएगा, सरकार फिलहाल कोई नया खर्च बढ़ाना नहीं चाहती है, शायद  यही वजह है कि कर्मचारियों को मिलने वाली एऱियर की ऱाशि पर खतरा मंडरा रहा है।