होशियार! अमित शाह आ रहे हैं, घरों के खिड़की-दरवाजे बंद कर लें, गुजरात पुलिस का अजीबोगरीब फरमान

केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के अहमदाबाद दौरे को लेकर पुलिस ने वेजलपुर के कई इलाकों में घरों के दरवाजे और खिड़कियों को बंद करने का दिया आदेश

Updated: Jul 11, 2021, 06:53 PM IST

होशियार! अमित शाह आ रहे हैं, घरों के खिड़की-दरवाजे बंद कर लें, गुजरात पुलिस का अजीबोगरीब फरमान
Photo Courtesy : Tfipost

अहमदाबाद। देश के गृहमंत्री अमित शाह अपने तीन दिवसीय दौरे को लेकर आज अहमदाबाद पहुंचे हैं। अमित शाह के दौरे से पहले अहमदाबाद पुलिस ने एक अजीबोगरीब फरमान जारी करते हुए लोगों को अपने घरों के खिड़की-दरवाजे बंद रखने का निर्देश दिया जो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस आदेश का कॉपी सामने आने के बाद स्थानीय लोग आक्रोशित हो गए हैं।

दरअसल, अमित शाह आज वेजलपुर इलाके में हाल ही में नए बनाए गए पार्टी प्लॉट और कम्युनिटी हॉल का उद्घाटन करने के लिए आए थे। शाह के आने से पहले पुलिस ने वेजलपुर की आई स्वामीनारायण और स्वाति अपार्टमेंट समेत कई सोसाइटी के चेयरमैन को पत्र लिखकर कहा है कि अमित शाह को जेड प्लस सिक्योरिटी मिली हुई है। उनके साथ अन्य वीआईपी गेस्ट भी यहां से गुजरेंगे। इसलिए घरों की खिड़कियां और दरवाजे बंद रखे जाएं।

यह भी पढ़ें: दिग्विजय सिंह के प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने चलाया वॉटर कैनन, कांग्रेस बोली- ब्रिटिश राज की याद दिला दी

अहमदाबाद पुलिस के इस फरमान से वेजलपुर के लोग गुस्से में हैं। पत्र की तस्वीर भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है, जिसमें पुलिस का आदेश लिखा हुआ है। लोगों का कहना है कि हमने ही चुनकर उन्हें नेता बनाया है। लेकिन गृहमंत्री बनने के बाद वे पुराने जमाने के राजा जैसा बर्ताव कर रहे हैं, जैसे पहले जहाँपनाह और हुजुरेआला के गुजरने से पहले शहरों में मुनादी की जाती थी, आज लोकतांत्रिक व्यवस्था में ये होने लगा। 

मामले पर अहमदाबाद पुलिस अधिकारी एलटी ओडेदरा के मुताबिक ये कोई फरमान नहीं था बल्कि हमने तो सोसाइटी के लोगों से विनती की है कि वह घर के खिड़की-दरवाजे बंद रखें। जब भी इस तरीके के वीआईपी मूवमेंट्स होते हैं तब हम लोगों से सहयोग की अपेक्षा रखते हैं। यदि खिड़की दरवाजे खुले रहते तो वीआईपी मूवमेंट में सुरक्षा व्यवस्था प्रभावित हो सकती है।

यह भी पढ़ें: मोदी के सबसे युवा मंत्री की डिग्री में गड़बड़झाला, 4 महीने के भीतर कर ली 5 साल की पढ़ाई

हालांकि, स्थानीय लोगों का कहना है कि पुलिस ने उन्हें ऐसा न करने पर कार्रवाई की चेतावनी दी है। इतना ही नहीं सामुदायिक भवन के आसपास की दुकानें भी बंद कराई गई। लोगों का यह भी आरोप है कि शाह के दौरे के लिए सब्जी वगैरह की दुकानें तीन दिनों के लिए हटवा दी गयी है। रहवासियों का कहना है कि अमित शाह हमारे गृह मंत्री हैं, इसका मतलब ये तो नहीं कि उनके आने पर हम घरों में दुबके रहें। यह तो स्वतंत्रता का हनन है। वीआइपी गेस्ट की सुरक्षा के नाम पर नागरिक अधिकारों का हनन करना कौन सी व्यवस्था है।